ऑस्ट्रेलिया: क्वांटस की सभी उड़ानें रद्द

क्वॉन्टस इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption हड़तालों से क्वॉन्टस को हर हफ़्ते एक करोड़ 50 लाख़ ऑस्ट्रेलियन डॉलर का नुकसान हो रहा है

ऑस्ट्रेलिया की मुख्य विमानन कंपनी क्वांटस ने अपनी सभी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रद्द करने की घोषणा की है.

क्वांटस एयरलाइंस के कर्मचारियों ने इससे पहले कई बार हड़ताल की है. क्वांटस की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया है कि शनिवार सुबह ग्रीनिच मान समय (जीएमटी) छह बजे से कोई भी विमान उड़ान नहीं भरेगा.

ग़ौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया के लगभग 65 प्रतिशत विमानन उद्योग पर छाई इस कंपनी के 100 से अधिक विमानों को विश्व भर के 22 हवाई अड्डों पर 'ग्राऊंड' किया गया है.

कंपनी ने ये भी घोषणा की है कर्मचारियों को तब तक काम पर नहीं लौटने दिया जाएगा जब तक प्रबंधन और ट्रेड यूनियनों के बीच समझौता नही हो जाता है.

हालाकि, क्वांटस एयरलाइंस के जो भी विमान उड़ान भर रहे हैं, उन्हें उड़ान पूरी करने दिया जाएगा और बाद में उन्हें किसी हवाई अड्डे पर ठहराया जाएगा.

एयरलाइंस के मुख़्य कार्यकारी अधिकारी एलन जॉयस ने अपने ही इस फ़ैसले को 'अभूतपूर्व' बताया है.

क्वांटस को हर हफ़्ते 'रोलिंग हड़ताल' यानी कभी एक विभाग के कर्मचारियों और फिर दूसरे विभाग के हड़ताल पर चले जाने के कारण एक करोड़ 50 लाख़ ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का नुकसान हो रहा है.

जिन कर्मचारियों ने पिछले समय में हड़ताल में भाग लिया है उनमें यात्रियों के सामान की देखरेख करने वाले बैगेज-हेंड्लर, इंजीनीयर और पायलट शामिल है.

क्वांटस एयरलाइंस ने अपने आधिकारिक फ़ेसबुक पेज पर वक्तव्य जारी करके कहा है कि बुकिंग करा चुके यात्री अगली जानकारी मिलने तक हवाई अड्डे पर ना जाएँ. विमानन कंपनी ने यात्रियों को टिकट का पूरा पैसा वापस लौटाने की भी घोषणा की है.

ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने घोषणा की है कि वह क्वांटस को राष्ट्रीय औद्योगिक न्यायालय में ले जा रहा है ताकि कर्मचारियों के साथ उसक लंबे समय से चला आ रहा विवाद ख़त्म किया जा सके.

ऑस्ट्रिलिया के परिवहन मंत्री एंथनी एल्बैनीस ने बीबीसी को बताया, "स्पष्ट है कि सरकार ने क्वांटस के असामान्य क़दम के कारण ये कार्रवाई की है. स्पष्ट है कि इसका ऑस्ट्रेलियाई अर्थव्यवस्था, आम जनता और कर्मचारियों पर भी असर पड़ा है. क्वांटस ने सरकार को इस कार्रवाई (उड़ाने रद्द करने) के बारे में कोई पूर्व जानकारी नहीं दी थी. इसलिए सरकार ने तत्काल क़दम उठाया है."

आउटसोर्सिंग के मुद्दे पर मतभेद

विमानन कंपनी और श्रमिक संगठनों के बीच पुनर्गठन और आउटसोर्सिंग के मामले पर अगस्त से ही मतभेद हैं.

श्रमिक संगठनो ने कंपनी के पुनर्गठन के फ़ैसले पर चिंता जताते हुए कहा है कि इससे नौकरियों में कटौती होगी.

उधर मुख़्य कार्यकारी एलन जॉयस के मुताबिक श्रमिक संगठनो की बात मानकर आसान रास्ते का चुनाव नही किया जाएगा क्योकिं इससे कंपनी को लंबे समय में काफ़ी नुकसान पहुचेगा.

एलन जॉयस ने कहा, ‘उड़ाने रद्द करने का फ़ैसला एक साहसिक और कठिन निर्णय है.’

जॉयस के मुताबिक उन्होने यह फ़ैसला शनिवार सुबह ही कर लिया था जिसे बाद क्वांटस के निदेशक मंडल ने स्वीकृत कर लिया.

संबंधित समाचार