'युद्ध विराम' के बावजूद गज़ा पर हमले जारी

गज़ा और इसराइल
Image caption रविवार तक जारी हवाई हमलों में नौ फलस्तीनी चरमपंथी और एक इसराइली नागरिक मारे गए थे.

मिस्र की मध्यस्थता से हुए युद्ध विराम के बावजूद फ़लस्तीन पर इसराइली हवाई हमले जारी हैं जबकि इसराइली प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने चेतावनी दी है कि हमले तब तक जारी रहेंगे जबतक दूसरी ओर से रॉकेटों का दाग़ना रूक नहीं जाता.

रफ़ा में हुए हवाई हमलों में एक फ़लस्तीनी की मौत हो गई है जबकि व्यक्ति घायल हो गया है.

इन हमलों में शुक्रवार से लेकर अबतक 10 फ़लस्तीनी चरमपंथियों की मौत हो चुकी है. फ़लस्तीन के क्षेत्र से दाग़े गए रॉकेट में अक इसराइली नागरिक की मौत हो गई थी.

मध्यस्थता

पिछले चंद दिनों से दोनों पक्षों की ओर से जारी हिंसा के बाद मिस्र ने इस मामले में मध्यस्थता की थी.

दोनों के बीच हुई कैदियों की अदला-बदली के बाद से यह हिंसा का अब तक का सबसे गंभीर मामला है.

इस महीने की शुरुआत में 477 फ़लस्तीनी कैदियों को इसराइली सैनिक गिलाद शलित की रिहाई के बदले इसराइली जेलों से रिहा किया गया था.

इसराइल और हमास के बीच समझौते के तहत 500 और फ़लस्तीनी कैदियों को इस साल के अंत में छोड़ा जाना है.

हमास एक इस्लामी चरमपंथी समूह है जो गजा़ को नियंत्रित करता है.

रिहाई को खतरा

बीबीसी के गजा़ संवाददाता जान डॉनीसन का कहना है कि हिंसा में वृद्धि इन कै़दियों की रिहाई को ख़तरे में डाल सकती है.

पुलिस के प्रवक्ता मिक्की रोसेनफ़ेल्ड ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि रातों रात इसराइल पर 12 रॉकेट दागे़ गए.

एक इसराइली सेना के बयान का हवाला देते हुए एपी ने बताया कि इसराइली विमानों ने गज़ा में चरमपंथियों के छह ठिकानों पर हमला किया.

इसराइली अधिकारियों ने गजा़ के 40 किलोमीटर दक्षिणी क्षेत्रों में स्कूलों और कई कॉलेजों को बंद कर दिया है.

संघर्ष विराम का वक्त गुज़र जाने के बाद एक वरिष्ठ इस्लामिक जिहाद अधिकारी ने एएफ़पी को बताया कि उनका समूह युद्ध विराम के लिए प्रतिबद्ध है जब तक इसराइल "इसे निभाता रहेगा."

संबंधित समाचार