थाईलैंड में बाढ़ के हालात सुधरने की उम्मीद : पीएम

Image caption थाईलैंड में आई बाढ़ में जुलाई महीने से अब तक 20 लाख से ज़्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

थाईलैंड की प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई है कि राजधानी बैंकॉक में आई भयंकर बाढ़ से केंद्रीय बैंकॉक के इलाक़े ज़्यादा प्रभावित नहीं होंगे.

प्रधानमंत्री यिंगलक चिनावाट ने राजधानी के बाशिंदों से कहा है कि देश बाढ़ के हालात से जल्दी ही उबर जाएगा.

जुलाई महीने से आई बाढ़ से देश के एक तिहाई से ज़्यादा राज्य प्रभावित हैं और 370 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

थाईलैंड में मौजूद बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि इसी साल जून में सत्ता में आनेवाली यिंगलक चिनावाट कई बार बाढ़ से पैदा हुए हालात से पूरी तरह हतोत्साहित हो गई थीं.

थाईलैंड के कई शहर बाढ़ में डूब गए हैं और क़रीब 20 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं.

जुलाई महीने में आई बाढ़ इस साल मॉनसून की भारी बरसात की वजह से आई है और कई दशकों में इसे सबसे भीषण माना जा रहा है.

कारखाने बंद

अक्टूबर महीने की शुरुआत में राजधानी बैंकॉक के उत्तरी ज़िलों के प्रभावित होने के बाद अधिकारी बैंकॉक के व्यावसायिक केंद्रों को पानी में डूबने से बचाने की कोशिश कर रहे हैं.

अधिकारियों ने शहर के निवासियों से अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों में जाने को कहा है.

अधिकारियों को आशंका है कि सोमवार तक बैंकॉक की चाओ फ्रा़या नदी ऊंचे ज्वार की वजह अपने तटबंध तोड़ सकती है.

प्रधानमंत्री यिंगलक चिनावाट ने कहा कि,'' मुझे उम्मीद है कि रेत के थैलों से शहर का बाढ़ से बचाव हो जाएगा. हालांकि ये सब कुछ समुद्र के जलस्तर पर निर्भर करता है और इस पर भी कि रेत के थैले कितने सही तरीक़े से रखे गए हैं. मैं आशा करती हूं कि रेत के थैले से बने तटबंध हमारी रक्षा कर सकेंगे.''

शुक्रवार को बैंक ऑफ़ थाईलैंड ने देश के विकास दर के पूर्वानुमान को पहले घोषित 4.1 फ़ीसदी से घटाकर 2.6 फ़ीसदी कर दिया.

देश के सकल घरेलू उत्पाद में राजधानी बैंकॉक का योगदान तक़रीबन 41 प्रतिशत का है और विश्लेषकों ने चेतावनी दी है कि बैंकॉक को होनेवाले किसी भी बड़े नुक़सान का असर देश की अर्थव्यवस्था और इसके विकास दर पर पड़ेगा.

बाढ़ की वजह से थाईलैंड के कई कारखानों में उत्पादन का काम ठप है और ये कारखाने दोबारा कब शुरू होंगे इसकी कोई निश्चित जानकारी नहीं है.

संबंधित समाचार