'फिर सर्वाधिक शक्तिशाली बन गए ओबामा'

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption लादेन के ख़िलाफ़ कार्रवाई से बराक ओबामा को फ़ायदा हुआ

चर्चित पत्रिका फ़ोर्ब्स की शक्तिशाली लोगों की सूची में एक बार फिर अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा शीर्ष स्थान पर पहुँच गए हैं. जबकि पिछले साल दुनिया के सर्वाधिक शक्तिशाली लोगों की सूची में पहले स्थान पर रहे चीन के राष्ट्रपति हू जिंताओ तीसरे नंबर पर खिसक गए हैं.

भारत के लिहाज से देखें, तो कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इस सूची में 11वें नंबर पर हैं, हालाँकि पिछले साल के मुक़ाबले वे दो स्थान नीचे आई हैं. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी एक स्थान नीचे गिरकर 19वें स्थान पर हैं.

ताज़ा सूची में रूस के प्रधानमंत्री व्लादीमिर पुतिन दूसरे नंबर पर हैं. बराक ओबामा वर्ष 2009 में इस सूची में शीर्ष स्थान पर थे. लेकिन वर्ष 2010 में हू जिंताओ को नंबर वन स्थान मिल गया था.

फ़ोर्ब्स का कहना है कि आर्थिक मोर्चे पर ज़रूर राष्ट्रपति ओबामा को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन विदेश नीति के मोर्चे पर उन्होंने कई सफलताएँ हासिल की हैं.

प्रभाव

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रूस के प्रधानमंत्री पुतिन दूसरे नंबर पर हैं

फ़ोर्ब्स ने कहा, "निश्चित रूप से नौकरी से जुड़ा उनका विधेयक नाकाम रहा, कर्ज़ सीमा को लेकर उनकी बातचीत भी पटरी से उतरी. उनकी लोकप्रियता में भी कमी आई. लेकिन ओबामा ने एक बार फिर सर्वाधिक शक्तिशाली व्यक्ति का स्थान हासिल कर लिया है."

पत्रिका के मुताबिक़ इस स्थान के लिए ओबामा के एकमात्र प्रतिद्वंद्वी हू जिंताओ के प्रभाव में कमी आ रही है.

फ़ोर्ब्स ने वर्ष 2011 में बराक ओबामा के पाकिस्तान में घुसकर ओसामा बिन लादेन के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के आदेश को प्रमुखता दी है. इस कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन की मौत हो गई थी.

दूसरे स्थान पर हैं रूस के प्रधानमंत्री व्लादीमिर पुतिन, जिनके एक बार फिर रूस के राष्ट्रपति बनने के आसार हैं. चौथे नंबर पर हैं जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल, जबकि माइक्रोसॉफ़्ट के चेयरमैन बिल गेट्स पाँचवें नंबर पर हैं. सऊदी अरब के शाह अब्दुल्लाह छठे नंबर पर हैं.

सूची

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption सोनिया गांधी अब 11वें नंबर पर पहुँच गई हैं

इसके बाद सातवें नंबर पर हैं पोप बेनेडिक्ट-16वें और फिर नंबर पर अमरीकी फ़ेडेरल रिज़र्व के चेयरमैन बेन बर्नाके.

सोशल नेटवर्किंग साइट फ़ेसबुक के 27 वर्षीय संस्थापक मार्क ज़करबर्ग इस सूची में नौवें नंबर पर हैं, जबकि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन 10वें स्थान पर हैं.

सर्वाधिक शक्तिशाली 70 लोगों की सूची में जिन लोगों को इस बार जगह नहीं मिल पाई है, वे हैं विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन असांज और आईएमएफ़ के पूर्व प्रमुख डोमिनिक स्ट्रॉस कान.

टॉक शो क्वीन ओपरा विन्फ़्री के रिटायर होने के कारण उन्हें इस सूची में जगह नहीं मिली है. जबकि ओसामा बिन लादेन और स्टीव जॉब्स की मौत के कारण उन्हें इस सूची से हटा दिया गया है.

दलाई लामा 12 स्थान गिरकर इस बार इस सूची में 51वें स्थान पर पहुँच गए हैं. इस सूची में दो अपराधियों के नाम भी शामिल हैं.

इनमें से एक हैं मैक्सिको के ड्रग किंग माने जाने वाले जोओक्विन गुज़मैन लोएरा, जो 55वें स्थान पर हैं. जबकि दाउद इब्राहिम 57वें स्थान पर हैं.

संबंधित समाचार