इतिहास के पन्नों में सात नवंबर

इतिहास के पन्नों को पलटें तो पाएंगे कि 7 नवंबर के दिन जहां 2000 में अमरीका की 'प्रथम महिला' अमरीकी संसद के निचले सदन में चुनी गई थीं तो वहीं 1972 में रिचर्ड निक्सन दूसरी बार राष्ट्रपति चुनाव जीते थे.

2000: हिलेरी क्लिंटन अमरीकी सीनेट में पहुँचीं

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बिल क्लिंटन के मोनिका के साथ संबंध होने की ख़बरों के बावजूद वे अपने पति के साथ खड़ी रहीं.

7 नवंबर, 2000 के दिन हिलेरी रॉडहैम क्लिंटन, अमरीकी संसद के निचले सदन में चुनी जाने वाली पहली ऐसी डेमोक्रैट सांसद बनीं जिनके पति अमरीका के राष्ट्रपति थे.

उन्होंने ये चुनाव ऐसे समय में जीता था जब उनके पति बिल क्लिंटन पर आरोप लगे थे कि उनका किसी और महिला के साथ भी संबंध थे.

व्हाइट हाउस में काम करने वाली मोनिका लेविन्सकी के साथ बिल क्लिंटन के संबंधों की बात जब 1998 में सामने आई थी, तो काफ़ी बवाल मचा था, लेकिन इस सब के दौरान हिलेरी क्लिंटन पति के साथ खड़ी रहीं.

लेकिन बाद में जब उनके पति ने मोनिका के साथ अपने संबंध होने की बात को स्वीकार किया, वो हिलेरी क्लिंटन के लिए एक मुश्किल घड़ी थी.

2001 में बिल क्लिंटन ने आठ वर्ष का कार्यकाल पूरा करने के बाद राष्ट्रपति पद छोड़ा था. आत्मकथा में हिलेरी क्लिंटन ने लिखा था कि उनकी ज़िंदगी के दो सबसे मुश्किल फ़ैसले थे – बिल क्लिंटन के साथ रिश्ता बनाए रखना और न्यूयॉर्क से सीनेट की सीट के लिए चुनाव लड़ना.

1972: निक्सन लगातार दूसरी बार अमरीकी राष्ट्रपति बने

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption वाटरगेट स्कैंडल में उनका नाम आने के बाद राष्ट्रपति निक्सन को अपने पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

7 नवंबर 1972 के दिन अमरीकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में लगातार दूसरी बार विजय हासिल की थी.

उन्हें 61 प्रतिशत वोट मिले, जबकि उनके डेमोक्रैट प्रतिद्वंद्वी जॉर्ज मैकगवर्न को 38 प्रतिशत ही वोट मिले थे.

लेकिन जीत हासिल करने के बाद भी निक्सन की रिपब्लिकन पार्टी संसद के निचले सदन में बहुमत हासिल नहीं कर पाई थी.

राष्ट्रपति निक्सन की पहली उपलब्धि ये थी कि उन्होंने 1973 में वियतनाम के साथ एक युद्धविराम संधि पर हस्ताक्षर किए थे.

लेकिन निक्सन अपने राजनीतिक सफ़र में काफ़ी विवादों में भी घिरे जब वॉटरगेट स्कैंडल में उनका नाम सामने आया.

हुआ ये था कि जून 1972 में सात लोगों को वाशिंगटन के वॉटरगेट बिल्डिंग में स्थित डैमोक्रैटिक दफ़्तर में अवैध रूप से घुसते हुए पकड़ा गया था.

बाद में मालूम हुआ कि इन लोगों का संबंध रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति निक्सन से ही था.

इस घटना के बाद निक्सन के तीन सहयोगियों ने राजनीति से इस्तीफ़ा दे दिया था जिसके बाद 1974 में ख़ुद निक्सन को भी इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

संबंधित समाचार