पाकिस्तानी फ़ौज करेगी अफग़ानी सैनिकों को प्रशिक्षित

अफग़ानिस्तान फ़ौज इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption नैटो सेना की वापसी के बाद देश की हिफ़ाज़त की ज़िम्मेदारी स्थानीय सुरक्षाबलों पर होगी.

अफग़ानिस्तान की सरकार का कहना है कि अफग़ानिस्तान, पाकिस्तान और तुर्की के बीच एक समझौता हुआ है जिसके तहत पाकिस्तानी फ़ौज अफग़ानिस्तान की सेना को प्रशिक्षण देगी.

हुकुमत के मुताबिक़ ये समझौता इस्तांबुल में आयोजित एक सम्मेलन के दौरान किया गया.

काबुल स्थित बीबीसी संवाददाता सईद अनवर के मुताबिक़ अफग़ानिस्तान सरकार ने कहा है कि इस त्रिपक्षीय क़रारनामे के अनुसार तीनों मुल्कों की सेना साझा अभ्यास भी करेंगी.

पाकिस्तान पहले भी बार-बार अफग़ानिस्तान की सेना को प्रशिक्षण देने की पेशकश करता रहा है लेकिन उसे इस मामले में कोई उपयुक्त जवाब नहीं मिला था.

संकेत

सईद अनवर का कहना कि अफग़ानिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुसा ज़ई ने समझौते के बारे में और कोई जानकारी देने से मना कर दिया है.

इधर पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तेहमीना जंजुआ ने भी इसी तरह के संकेत दिए हैं.

पाकिस्तान की सरकारी समाचार एजेंसी का कहना है कि विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा है कि सम्मेलन के दौरान दो समझौतों पर हस्ताक्षर हुए जिसमें एक साझा सैनिक अभ्यास और दूसरा प्रशिक्षण से संबंधित है.

संबंधित समाचार