नैटो के साथ संघर्ष में 60 लड़ाकों की मौत

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अफ़गानिस्तान में पिछले कुछ महीनों में तालेबान के हमले बढ़े हैं.

अफ़गानिस्तान के पूर्वी प्रांत पकटिका में नैटो और तालेबान लड़ाकों के बीच हुए संघर्ष में 60 लड़ाके मारे गए हैं.

स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि मंगलवार को तालेबान लड़ाकों ने नैटो के एक ठिकाने पर हमला किया लेकिन वायु हमलों और सैनिकों ने हमले को नाकाम कर दिया.

बरमाल के पास हुए इस हमले के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी गई है लेकिन स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि इसमें गठबंधन सेना का कोई सैनिक नहीं मारा गया है.

उधर एक अन्य घटना में उरुज़गान प्रांत में एक अफ़गान सैनिक ने तीन ऑस्ट्रेलियाई सैनिकों को घायल कर दिया है.

पटकिका के गवर्नर के प्रवक्ता मोखलिस अफ़गान ने बीबीसी को बताया, ‘‘ कम से कम 60 से 70 लड़ाकों ने नैटो-अफ़गान राष्ट्रीय सुरक्षा फोर्स के एक अड्डे पर हमला किया जो बरमाल ज़िले मरघा इलाक़े में है.’’

अफ़गान का कहना था, ‘‘लड़ाकों के पास भारी हथियार थे और छोटे हथियार भी लेकिन संयुक्त सेना ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें विमानों ने भी मदद की. इसमें सारे लड़ाके मारे गए हैं.नैटो या आम नागरिकों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.’’

नैटो ने इस हमले की पुष्टि करते हुए बताया कि नैटो के विमानों ने हमले का सामना करने में मदद की है.

अफ़गानिस्तान खुफ़िया विभाग के दो वरिष्ठ अधिकारियों ने बीबीसी को बताया कि यह हमला पाकिस्तान से सटी सीमा पर था जिसमें कम से कम 50 तालिबा लड़ाके शामिल थे और ये लड़ाके पाकिस्तान से आए थे.

अधिकारियों के अनुसार ये संभव नहीं है कि पाकिस्तानी सुरक्षा बलों की नज़रों में आए बिना लड़ाके भारी हथियारों के साथ नैटो के अड्डे पर पहुंच जाएं.

बरमाल में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि लड़ाकों में अरबी, चेचन, उज़्बेक और उर्दू बोलने वाले लड़ाके थे जो संभवत हक्कानी नेटवर्क से जुड़े हए थे.

संबंधित समाचार