सीरिया में गृह युद्ध की आशंका : यूएन

नवी पिल्लै इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption नवी पिल्लै ने सुरक्षा परिषद से कहा है कि सीरिया में गृह युद्ध छिड़ने के गंभीर आसार हैं.

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार मामलों की प्रमुख नवी पिल्लै ने सुरक्षा परिषद से कहा है कि सीरिया में गृह युद्ध छिड़ने की आशंका गंभीर है.

पिल्लै का कहना था कि जिस तरह लीबिया में शांतिपूर्ण परिवर्तन की माँग हिंसा में तब्दील हो गई, ठीक इसी तरह सीरिया में प्रभावित लोग आख़िरकार लीबिया के लोगों का रास्ता अपना सकते हैं.

उन्होने कहा कि सीरिया में लोग हथियार उठाकर विद्रोह करने को मजबूर हो रहे हैं क्योंकि शांतिपूर्ण तरीके से बदलाव की उनकी माँगों को हिंसा और दमन के ज़रिए कुचला जा रहा है. इसलिए सीरिया सशस्त्र संघर्ष की ओर तेज़ी से बढ़ रहा है.

पिल्लै ने सीरिया में हिंसा ख़त्म करने और विपक्षी दलों के साथ बातचीत करने की अरब लीग की प्रतिबद्धता का स्वागत किया लेकिन कहा कि आम नागरिकों की हत्याओं का सिलसिला नहीं रुक रहा है.

समझौते का पालन नही

पिल्लै ने सुरक्षा परिषद को बताया कि सीरिया की सरकार अरब लीग के साथ पिछले हफ़्ते किए गए समझौते का पालन नहीं कर रही है.

इस समझौते के तहत सीरिया को होम्स और अन्य शहरों के रिहायशी इलाक़ों से सेना को वापस बुलाना था लेकिन इन शहरों में अब भी सेना प्रदर्शनकारियों पर हमले कर रही है और कई नागरिक मारे गए हैं.

पिल्लै का कहना था कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को सीरिया पर इस बात के लिए दबाव डालना चाहिए कि वो अरब लीग के साथ किए गए समझौते को स्वीकार करे और उसे लागू भी करे.

हांलाकि सीरिया के मसले पर सुरक्षा परिषद में गंभीर मतभेद हैं. पिछले महीने रुस और चीन ने सीरिया पर प्रतिबंध लगाने संबधी प्रस्ताव को वीटो कर दिया था.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार सीरिया में पिछले कुछ महीनों से चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों में अब तक कम से कम 3500 लोगों की मौत हो चुकी है.

संबंधित समाचार