तीन वरिष्ठ खमेर रूज़ नेताओं पर मुक़दमा शुरू

ख़मेर रूज नेताओं पर मुक़दमा इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ख़मेर रूज के तीन नेताओं पर लगभग बीस लाख लोगों की मौत के लिए ज़िम्मेदार होने का आरोप है.

कंबोडिया में 1970 के दशक में देश पर राज करने वाले खमेर रूज़ के तीन वरिष्ठ अधिकारियों के ख़िलाफ़ सोमवार से मुक़दमा शुरू हो गया है.

संयुक्त राष्ट्र के समर्थन वाले आयोग ने इन लोगों को लगभग बीस लाख लोगों की मौत के लिए ज़िम्मेदार होने का आरोप लगाया है.

सभी अभियुक्तों की उम्र 80 साल से अधिक है और उनपर मानवता के विरुद्ध अपराध, नरसंहार, प्रताड़ना, धार्मिक उत्पीड़न और हत्या का अभियोजन है.

खमेर रूज़ सरकार में विचारधारा प्रमुख नून चीया, पूर्व राज्य प्रमुख खिऊ सांपान और पूर्व विदेश मंत्री लेंग सारी पर ये मुक़दमा खमेर रूज़ के सत्ता में आने के तीस से भी अधिक समय के बाद चलाया जा रहा है.

खमेर रूज़ एक कट्टर कम्यूनिस्ट आंदोलन ने जिसने 1975 से 1979 तक कंबोडिया पर राज किया था.

धीमी न्यायिक प्रक्रिया

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ख़मेर रूज प्रशासन में नंबर दो कहे जाने वाले नून चीया समेत तीन नेताओं पर मुक़दमा शुरू हो गया है.

इस कम्यूनिस्ट सरकार के प्रमुख सालोथ सार थे, जिन्हें पॉल पॉट के नाम से जाना जाता है. साल 1998 में पॉल पॉट की मौत हो गई थी.

पॉल पॉट के अलावा भी कई प्रमुख खमेर रूज़ नेताओं की मौत हो चुकी है.

यहां तक खमेर रूज़ काल से बचकर निकलने वाले वैन नाथ की भी इस वर्ष सितंबर में मौत हो गई है. वो कंबोडिया के उस काले अध्याय पर न्याय की मांग करने वाले जाने-माने कार्यकर्ता थे.

जिन तीन वरिष्ठ खमेर रूज़ अधिकारियों पर मुक़दमा शुरू हुआ है वो साल 2007 से हिरासत में हैं.

संयुक्त राष्ट्र समर्थिक ट्राइब्यूनल के न्यायाधिशों को भी पांच साल पहले शपथ दिलाई गई लेकिन अब कहीं जाकर मुक़दमा शुरू हुआ है.