जापान: फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र ‘नियंत्रण’ में

फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र में प्रवेश करने के लिए पत्रकारों को विशेष सुरक्षा कवच पहनना पड़ा.

जापान सरकार ने घोषणा की है कि भूकंप और सुनामी से मची तबाही के नौ महीने बाद आख़िरकार फ़ुकुशिमा परमाणु संयंत्र को ‘नियंत्रित’ कर लिया गया है.

जापान के प्रधानमंत्री योशिहिकू नोडा ने बताया कि संयंत्र के पावर स्टेशन से रेडियोधर्मी रिसाव बंद हो गया है और संयंत्र के सभी कंपार्टमेंट ‘कोल्ड शटडाउन’ यानि पूरी तरह बंद किए जाने के लिए तैयार है.

संयंत्र को सुरक्षित बनाने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, हालांकि सरकार ने यह कहा है कि संयंत्र को पूरी तरह ख़त्म करने में अभी वक़्त लगेगा.

रेडियोधर्मी रिसाव

फ़ुकुशिमा दाइची परमाणु संयंत्र में कुल छह रिएक्टर हैं जो मार्च में आई सुनामी और भूकंप में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए थे. इनमें से चार रिएक्टर में हुए धमाके के बाद संयंत्र में तापमान बढ़ने लगा और व्यापत स्तर पर रेडियोधर्मी रिसाव का ख़तरा बढ़ गया था.

संयंत्र में धमाकों के बाद रेडियोधर्मी रिसाव भी हुआ था

इसके बाद प्लांट में काम करने वाले इंजीनियरों और कर्मचारियों ने लगातार पानी की फ़ुहार के ज़रिए तापमान पर नियंत्रण रखा था.

इस संयंत्र के 20 किलोमीटर का दायरा अब भी प्रवेश निषेध क्षेत्र है.

‘कोल्ड शटडाउन’ का मतलब है कि संयंत्र में मौजूद परमाणु ईंधन की छड़ों का तापमान बेहद कम रहेगा और संयंत्र गर्म नहीं हो पाएगा.

संबंधित समाचार