कज़ाकिस्तान में झड़पों में 10 की मौत

तेल कर्मचारी इमेज कॉपीरइट none
Image caption चश्मदीदों ने कहा कि पुलिस ने झनाओज़ेन शहर में प्रदर्शनकारियों पर गोलियाँ चलाई लेकिन अधिकारी इस से इंकार कर रहे हैं.

पश्चिमी कज़ाकिस्तान में हड़ताल कर रहे तेल कर्मचारियों और सरकारी सुरक्षा बलों के साथ हुए संघर्ष में कम से कम दस लोगों की मौत हो गई है.

चश्मदीदों का कहना है कि पुलिस ने झनाओज़ेन शहर में प्रदर्शनकारियों पर गोलियाँ चलाई लेकिन अधिकारियों ने गोली चलाने से इंकार किया हैं.

झड़पें उस समय हुई जब पुलिस ने शहर के मुख्य चौक पर छह महीनों से हड़ताल कर रहे कर्मचारियों से जगह खाली करानी चाही .

हड़ताली कर्मचारी बेहतर वेतन की माँग कर रहे हैं लेकिन पुलिस ने उनकी हड़ताल को गै़रकानूनी करार दिया है. हड़ताल कर रहे कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें मुश्किल और ख़तरे का काम करने के लिए अलग से पैसा मिलना चाहिए.

आज़ादी की 20वीं वर्षगाँठ

ये संघर्ष उस समय हुआ हैं जब सारा देश सोवियत संघ से आज़ादी की 20वीं वर्षगाँठ मना रहा है.

शुक्रवार को पुलिस जब चौक को खाली करवाने पहुँची तो तेल कर्मचारियों ने उन पर धावा बोल दिया.

चश्मदीदों ने बीबीसी को बताया कि कई लोग मारे गए हैं और कई घायल हैं. साथ ही स्थानीय सरकारी विभागों, एक होटल समेत कई इमारतों को आग लगा दी गई.

कज़ाकिस्तान के एक अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक जाँच में 10 लोगों की मौत और कुछ पुलिस अधिकारियों के घायल होने की आशंका हैं.

उन्होंने कहा कि आज़ादी दिवस के समारोह के लिए तैयार किए गए मंच और कुछ अन्य जगहों को भी नुकसान पहुँचा है.

उन्होंने कहा कि मामले की आपराधिक जाँच के आदेश दे दिए गए हैं.

संबंधित समाचार