बग़दाद में बम धमाकों में 63 की मौत

कर्राडा
Image caption धमाकों के बाद कर्राडा के आसमान में धुए के गुबार देखे गए.

इराक़ की राजधानी बग़दाद मे गुरूवार को हुए बम धमाकों में कम से कम 63 लोगों की मौत हो गई है और कई घायल हुए है.

शिया और सुन्नी गुटों के बीच हाल ही में हुए टकराव के बाद से इराक़ में ताज़े बम धमाके हिंसा की सबसे बड़ी घटना है.

इराक़ के आंतरिक मंत्री ने कहा है कि 13 जगहों को निशाना बनाकर धमाके किए गए थे, हलावी और कर्राडा जिले में भी हमलें किए गए.

सरकार में मतभेद पैदा होने के बाद हुए इन बम धमाकों से इराक़ में सांप्रदायिक तनाव पैदा होने का खतरा बना गया है.

अभी तक पता नही चल पाया है कि इन धमाकों के पीछे किसका हाथ है.

"शीशे टूटे"

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक़ हलावी में हुए बम धमाकों में कम से कम चार लोग मारे गए.

कर्राडा के एक स्कूल में टीचर राघद खालिद ने कहा कि वहाँ हुए एक बम धमाके में स्कूल की सारी खिड़किया चकनाचूर हो गई.

उन्होने कहा, ''सारे बच्चे डरे हुए थे और रो रहे थे. कार बम धमाके के कुछ अवशेष स्कूल में भी आकर गिरे है.''

धमाकों के बाद कर्राडा के आसमान में धुए के गुबार देखे गए.

इराक़ के उप राष्ट्रपति तारिक़ अल-हाशमी के खिलाफ़ आतंक से जुड़े मामलों पर गिरफ़्तारी वारंट जारी किए जाने के बाद वहाँ की साल भर पुरानी गठबंधन सरकार में उथलपुथल मचा है.

इराक़ी संसद में सुन्नियों का सबसे बड़ा दल अल-इराक़िया इसके विरोध में संसद का बॉयकॉट कर रही है. अल-इराक़िया ने शिया प्रधानमंत्री नूरी मलिकी पर एकाधिकार बरतने का आरोप लगाया है.

हालांकि हाशमी ने इन आरोपों का खंडन किया है. वो इस समय इराक़ी कुर्दिस्तान में क्षेत्रीय सरकार के संरक्षण में है.

संबंधित समाचार