15-वर्षीय बच्चे ने सात चोटियों पर चढ़ने का नया रिकॉर्ड बनाया

जॉर्डन रोमेरो
Image caption जब जॉर्डन रोमेरो अंटार्कटिका के विंसन मासिफ पर पहुँचे जो उनके उस अभियान की अंतिम चोटी थी जो उन्होंने छह साल पहले शुरु किया था.

15-वर्षीय लड़के जॉर्डन रोमेरो ने सात चोटियों पर चढ़ने का नया रिकॉर्ड बनाया है.

अमरीका का एक पंद्रह साल का लड़का सातों महाद्वीपों के सबसे उंचे पर्वतों पर चढ़ने वाला सबसे कम उम्र का व्यक्ति बन गया है.

शनिवार को जॉर्डन रोमेरो अंटार्कटिका के विंसन मासिफ़ चोटी पर पहुँचे जो उनके उस अभियान की अंतिम चोटी थी जो उन्होंने छह साल पहले शुरु किया था.

उम्मीद है कि उनकी पूरी टीम, जिसमें उनके पिता और सौतेली माँ शामिल है, अपने बेस कैंप पर रविवार शाम तक पहुंच जाएगी.

दस साल की उम्र में जॉर्डन अफ़्रीक़ा के माउंट किलीमंजारो पर चढे थे.

कैलिफ़ॉर्निया के रहने वाले जॉर्डन जब सिर्फ़ 13 साल के थे तो उन्होंने दुनिया के सबसे उंचे पर्वत माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई की थी.

उन्होंने अपनी माँ लेह अन ड्रेक को फ़ोन कर माउंट विंसन मासिफ़ पर चढ़ने की पुष्टि की.

पूर्व रिकार्ड

जॉर्डन ने ब्रिटेन के जॉर्ज अटकिंसन का रिकार्ड तोड़ा जिन्होंने 16 वर्ष की उम्र में यह कारनामा अंजाम दिया था.

उन्होंने 'फाइंड युएर एवरेस्ट' पेज में अपने पोस्ट में लिखा कि उनके वापिस आने तक कोई उत्सव नहीं होगा.

जॉर्डन जिन बाक़ी चोटियों पर चढ़ चुके हैं उनमें रूस का माउंट एलब्रस (जुलाई 2007), अर्जेनटीना का माउंट एकोनकागुआ (दिसंबर 2007), अमरीका का माउंट मैकिन्ले (जून 2008) और इंडोनेशिया का कार्सतेंज पिरामिड (सितंबर 2009) शामिल है.

अप्रेल 2007 में उन्होंने आस्ट्रेलिया के सबसे उंचे पहाड़ कोसकयूज़को पर चढ़ाई की थी.

संबंधित समाचार