सूडानी सेना ने दारफ़ुर के प्रमुख बाग़ी को 'मारा'

ख़लील इब्राहिम इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सेना का कहना है कि ख़लील इब्राहिम उत्तरी कोर्दोफन में लड़ाई में मारे गए है

सूडान की सेना ने दारफ़ुर के विद्रोही गुट के प्रमुख को मार दिया है.

सेना का कहना है कि ख़लील इब्राहिम उत्तरी कोर्दोफन में हुई लड़ाई में मारे गए है.

इस दावे की स्वतंत्र तौर पर पुष्टि नहीं हो सकी है.

ख़लील इब्राहिम संघर्षपूर्ण क्षेत्र दारफ़ुर में जस्टिस एंड इक्वालिटी मूवमेंट (जेईएम) के नेता की हैसियत से जाने जाते हैं. कुछ महीने पहले वह लीबिया में गद्दाफी शासन के ख़त्म होने के बाद निर्वासन से लौटे थे.

सूडानी सेना के प्रवक्ता सावरमी खालेद ने बीबीसी को बताया कि इब्राहिम सुबह मारे गए थे.

प्रवक्ता ने राज्य टीवी को यह भी बताया कि ख़लील इब्राहिम और कुछ अन्य बाग़ी नेता दक्षिणी सूडान से प्रवेश करने का प्रयास कर रहे थे जो जुलाई के महीने में सूडान से अलग हुआ था.

गद्दाफी की मदद

सूडान ने जेईएम पर आरोप लगाया था कि उन्होंने गद्दाफी की उनके सत्ता पर पकड़ बनाए रखने की कोशिशों में उनकी मदद की थी.

विश्लेषकों का कहना है कि गद्दाफी के त्रिपोली में पतन से बाग़ियों को बड़ा झटका लगा था क्योंकि वे उन्हें पनाह और वित्तीय सहायता देते थे.

बाग़ियों ने सूडान की सरकार के साथ फरवरी 2010 में युद्धविराम संधि पर हस्ताक्षर किए थे लेकिन सूडानी सेना पर दारफ़ुर में नए हमले करने का आरोप लगाते हुए जल्द ही शांति वार्ता को रोक दिया था.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि साल 2003 से चल रहे संघर्ष में लगभग तीन लाख लोग मारे जा चुके हैं.

संबंधित समाचार