ईरान ने दो और मिसाइलों का परीक्षण किया

ईरानी नौसेना इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ईरानी मिसाइलों का परीक्षण उस समय हो रहा है जब ईरान और पश्चिमी देशों के बीच मतभेद उजागर हुए है

स्ट्रेट ऑफ़ हॉर्मुज़ में ईरानी नौसेना के अभ्यास के आख़िरी दिन ईरान ने कहा है कि उसने दो और मिसाइलों का सफल परीक्षण किया है.

ईरानी नौसेना के कमांडर महमूद मोसावी ने कहा कि जहाज भेदी स्वदेशी मिसाइल ने अपने निशाने को सफलतापूर्वक धवस्त कर दिया. वहीं दूसरे मिसाइल का प्रदर्शन अपने पहले के संस्करणों के मुक़ाबले बेहतर बताया गया.

बीबीसी के तेहरान संवाददाता के अनुसार ईरान स्ट्रेट ऑफ़ हॉर्मुज़ में अपनी ताक़त दिखाना चाहता है जहाँ से दुनिया भर में तेल की आवाजाही होती है.

संवाददाता के मुताबिक़ ईरान पश्चिमी देशों को संदेश भेज रहा है कि वो प्रतिबंध लगाए जाने के बाद भी मिसाइल बना सकता है.

'ग़दर का भी हुआ परीक्षण'

मिसाइलों के ताज़ा परीक्षण से पहले, रविवार को समाचार एजेंसी इरना के हवाले से ख़बर मिली थी कि ईरान ने खाड़ी में नौसेना के अभ्यास के दौरान ज़मीन से पानी में मार करने वाली एक मिसाइल का सफल परीक्षण किया है.

इरना के अनुसार महमूद मोसावी ने कहा, “ये पहली बार है जब ईरान ने स्वदेश निर्मित 200 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली ग़दर मिसाइल का परीक्षण किया है.”

उन्होंने इरना को बताया, “अत्याधुनिक ग़दर मिसाइल का निर्माण ईरानी विशेषज्ञों ने किया है. ग़दर पहले की मिसाइलों के मुक़ाबले काफ़ी उन्नत है.”

मोसावी ने कहा था, “जहाज़भेदी मिसाइल ने अपने निशाने को सफलतापूर्वक निशाना बनाया.”

स्ट्रेट ऑफ़ हॉर्मुज़ के अंतरराष्ट्रीय जल क्षेत्र में ईरानी नौसेना का 10 दिवसीय अभ्यास सत्र पिछले सप्ताह शुरू हुआ, उम्मीद की जा रही है कि सोमवार तक इसका समापन हो जाएगा.

ईरानी मिसाइलों का परीक्षण उस समय हो रहा है जब ईरान और पश्चिमी देशों के बीच उसके परमाणु बम बनाने को लेकर मतभेद उजागर हुए हैं.

पिछले हफ़्ते ईरान पर व्यावसायिक प्रतिबंध लगाए जाने की ख़बरों पर उसने नाराज़गी जताई थी.

ईरान ने तब स्ट्रेट ऑफ़ हॉर्मुज़ को बंद करने की धमकी दी थी.

अमरीका और उसके सहयोगी देशों का आरोप है कि ईरान परमाणु हथियार बना रहा है, जिसका ईरान हमेशा खंडन करता आया है.

ईरान का कहना है कि वो परमाणु तकनीक का इस्तमाल घरेलू ऊर्जा की ज़रूरत को पूरा करने के लिए करना चाहता है.

संबंधित समाचार