इराक़ में बम धमाकों में 72 की मौत

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption समाचार एजेंसियों के मुताबिक़ कधीमिया में हुए दो कार बम धमाकों में 14 से 15 लोग मारे गए है

दक्षिणी इराक़ और बग़दाद में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में कम से कम 72 लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

अधिकारियों ने कहा है कि नसीरिया में शिया दर्शनार्थियों पर हुए आत्मघाती हमले में 45 लोगों की मौत हो गई.

इससे पहले बग़दाद के शिया बहुल इलाक़े में हुए क्रमवार बम धमाकों में 27 लोगों की मौत हुई.

इराक़ से अमरीकी सैनिकों के अंतिम दल के दिसंबर में वापस चले जाने के बाद से सांप्रदायिक हिंसा के मामले बढ़े हैं.

बग़दाद में मौजूद बीबीसी के राफ़िद जब्बूरी ने कहा कि इराक़ राजनीतिक संकट से जूझ रहा है और देश में माहौल तनावपूर्ण है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक़ दर्शनार्थी कर्बला की तरफ़ जा रहे थे और इसी बीच विस्फोटकों से लैस एक आत्मघाती चरमपंथी ने धमाका कर दिया जिसमें 70 लोग घायल हो गए.

'आम लोग हुए शिकार'

वहीं बग़दाद में धमाके दिन के व्यस्त समय में हुए. इराक़ के आंतरिक मंत्रालय के मुताबिक़ हमले सदर और कधीमिया इलाक़ों में आम लोगों को निशाना बनाकर किए गए, जिसमें 66 लोग मारे गए.

एजेंसियों के मुताबिक़ कधीमिया में हुए दो कार बम धमाकों में 14 से 15 लोग मारे गए हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स को एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “श्रमिकों का एक दल काम पाने के इंतज़ार में बैठा हुआ था, इसी बीच कोई अपनी मोटर साइकिल वहाँ रख गया. थोड़ी ही देर बाद उसमें धमाका हो गया और कुछ लोग मारे गए. पास खड़ी कई गाड़ियों के शीशे भी टूट गए.”

इसी के लगभग आधे घंटे बाद एक चाय की दुकान पर भी बम धमाका हो गया.

इराक़ के उप राष्ट्रपति तारिक़ अल-हाशमी पर आतंकवाद से जुड़े मामलों में संलिप्त होने के आरोप लगाए जाने के बाद से ही वहाँ की गठबंधन सरकार संकट में पड़ी है. तारिक़ अल-हाशमी ने अपने पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

हाशमी इस समय इराक़ी कुर्दिस्तान के इरबिल में हैं और वहाँ पर उन्हें स्थानीय सरकार का संरक्षण प्राप्त है. मगर देश के राष्ट्रपति नूरी अल मलिकी कह चुके हैं कि हाशमी को उन लोगों को सौंप दिया जाना चाहिए.

संबंधित समाचार