नाइजीरिया में हिंसा जारी, 20 की मौत

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption नाइजीरिया में बोको हराम ईसाइयों पर लगातार हमले कर रहे हैं

नाइजीरिया में मौजूद इस्लामिक समूह बोको हराम ने देश के उत्तरी हिस्सों में ईसाई समुदाय के लोगों पर हमले तेज़ कर दिए हैं.

पिछले दो दिनों में कम से कम बीस लोगों की हत्या कर दी गई है.

ताज़ा हिंसा में कुछ बंदूकधारियों ने अडामावा राज्य में कोला स्थित एक चर्च पर हमला किया.

इससे पहले गुरुवार को मोटरसाइकिल सवारों ने ईसाई समुदाय के कुछ लोगों पर उस वक़्त गोलियां बरसानी शुरू कर दीं थीं जब वे लोग अपने दोस्त को दफ़नाने के लिए ले जा रहे थे.

बोको हराम के सदस्य उत्तरी नाइजीरिया में ईसाई समुदाय के लोगों पर बार- बार हमले कर रहे हैं.

आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक साल में बोको हराम ने कम से कम पांच सौ लोगों की हत्या की है.

कादुना राज्य के गवर्नर के ईसाई मामलों के विशेष सलाहकार जोसेफ़ हयाब का कहना है कि ईसाई समुदाय को इन हमलों से डर कर अपने घरों को नहीं छोड़ना चाहिए.

वे कहते हैं, "देश के उत्तरी हिस्से में ईसाई समुदाय के कुछ ऐसे भी लोग हैं जो कि बोको हराम के हमलों के डर से भाग रहे हैं. लेकिन हमें उन्हें इस बारे में जागरूक करना है कि उनके भागने की कोई वजह नहीं है. नाइजीरिया हम सबका है. यदि हम लोग इनकी धमकियों के चलते भाग जाएंगे, तो ऐसा भी वक़्त आएगा जब ये हमारे घर पर आकर हमें घर छोड़ने की धमकी देंगे. इसलिए हम लोगों को घर न छोड़ने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं."

जोसेफ़ हयाब का कहना था कि ईसाई समुदाय को इन हमलों से बचाने के कई रास्ते हैं.

बोको हराम के एक धड़े ने चेतावनी दी है कि वे मुस्लिम बाहुल्य उत्तरी नाइजीरिया को छोड़कर चले जाएं.

अडामावा राज्य की सीमा बोर्नो राज्य से मिलती है, जो कि बोको हराम की जन्मभूमि मानी जाती है.

पिछले हफ़्ते नाइजीरिया के राष्ट्रपति गुडलक जोनाथन ने नस्ली और धार्मिक हिंसा के चलते योब और बोर्नो राज्यों के साथ साथ मध्य नाइजीरिया और पश्चिम में स्थित नाइजर राज्य में आपत्काल की घोषणा कर दी थी.

लागोस में मौजूद बीबीसी संवाददाता मार्क लॉबेल के मुताबिक राष्ट्रपति की इस घोषणा के बावजूद हिंसा में लगातार बढ़ोत्तरी जारी है.

इसलिए सरकार को अन्य राज्यों में भी आपात्काल की घोषणा करनी होगी और देश के उत्तरी हिस्से में सेना की मौजूदगी बढ़ानी होगी.

संबंधित समाचार