सीरिया मामले पर अरब लीग की बैठक

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सीरिया में अरब लीग के पर्यवेक्षक स्थिति का जायज़ा लेने आए हुए हैं.

सीरिया में अरब लीग मिशन की प्रगति की समीक्षा के लिए लीग देशों के विदेश मंत्रियों की मिस्र की राजधानी काहिरा में बैठक हो रही है.

बैठक में इस बात पर विचार किया जा रहा है कि सीरिया मामले में संयुक्त राष्ट्र की सहायता ली जाए या नहीं.

शांति योजना की संभावना की तलाश के लिए लीग की ओर से भेजे गए पर्यवेक्षक मिशन की काफ़ी आलोचना हुई है. क्योंकि उसकी मौजूदगी के बावजूद सीरिया में ख़ून ख़राबा जारी है.

एक अपुष्ट ख़बर के मुताबिक रविवार को भी डेरा प्रांत में एक मुठभेड़ में 11 सीरियाई सैनिकों की मौत हो गई.

इसके अलावा भी सैनिकों और सेना छोड़कर भागने वालों के बीच झड़पें जारी हैं.

पिछले तीन दिनों में ही क़रीब सौ लोग मारे जा चुके हैं. हालांकि इन ख़बरों की पुष्टि करना बेहद मुश्किल हो रहा है क्योंकि ज़्यादातर विदेशी मीडिया को सीरिया में काम करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक दस महीने पहले राष्ट्रपति बशर अल असद के ख़िलाफ़ शुरू हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद से पांच हज़ार से भी ज़्यादा आम नागरिक मारे जा चुके हैं.

इसे रोकने में विफल रहने के कारण सीरिया में विपक्षी दलों ने अरब लीग की तीखी आलोचना की है.

लेकिन अरब लीग में शामिल कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक मिशन को वापस बुलाने का कोई सवाल नहीं उठता है क्योंकि बातचीत काफ़ी प्रगति पर है.

अरब लीग के पर्यवेक्षक पिछले दिसंबर से ही सीरिया में हैं. वे एक शांति योजना की संभावना तलाश रहे हैं जिसके तहत सीरिया की सरकार सड़कों पर होने वाली हिंसा और आम नागरिकों का दमन रोक दे.