मिट रोमनी ने जीता न्यूहैंपशर का मुक़ाबला

मिट रॉमनी इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मिट रॉमनी ने इससे पहले आयोवा में भी जीत हासिल की थी

अमरीकी राज्य न्यूहैंपशर में जीत के बाद मिट रोमनी अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार बनने की ओर एक क़दम और बढ़ गए हैं.

आधे से ज़्यादा मतों की गिनती हो चुकी है और मैसाचुसेट्स के पूर्व गवर्नर रोमनी 37 प्रतिशत मतों के साथ सबसे आगे हैं.

टेक्सस से अमरीकी कांग्रेस के सदस्य रॉन पॉल 23 फ़ीसदी मतों के साथ दूसरे स्थान पर हैं जबकि यूटा के पूर्व गवर्नर जॉन हंट्समन 17 प्रतिशत मतों के साथ तीसरे स्थान पर.

रिक सैंटोरम और प्रतिनिधि सभा के पूर्व स्पीकर न्यूट गिंग्रिच को 10-10 फ़ीसदी मत मिले हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा डेमोक्रेट्स की ओर से अगले कार्यकाल के लिए मैदान में हैं और उन्हें रिपब्लिकन की ओर से चुनौती कौन दे इसका फ़ैसला हो रहा है.

आने वाले कुछ महीनों तक अभी ये प्रक्रिया जारी रहेगी जबकि हर राज्य में मतदान होगा और तब अगस्त में पार्टी अधिवेशन में औपचारिक रूप से उम्मीदवार की घोषणा होगी.

पिछले हफ़्ते आयोवा में हुए चुनाव में रोमनी काफ़ी नज़दीक़ी मुक़ाबले में जीत पाए थे मगर लगातार दूसरी जीत के बाद अब उनके पास साउथ कैरोलाइना के चुनाव के लिए मज़बूत आधार तैयार हो रहा है.

अगला निशाना

मतदान समापन के 20 मिनट के भीतर ही रोमनी ने जीत की घोषणा करते हुए भाषण दे दिया था जहाँ उन्होंने राष्ट्रपति ओबामा के आर्थिक रिकॉर्ड को निशाने पर लिया.

उन्होंने समर्थकों से कहा, "राष्ट्रपति के पास अब आइडिया ख़त्म हो गए हैं. उनके पास अब कोई बहाना भी नहीं है. आज रात मैं साउथ कैरोलाइना के लोगों से अपील करता हूँ कि वे न्यूहैंपशर के साथ मिलकर 2012 में ही उनका कार्यकाल ख़त्म कर दें."

पिछली बार 2008 में प्रत्याशियों के लिए हुए मतदान में रोमनी न्यूहैंपशर में पिछली बार के उम्मीदवार जॉन मैकेन से हार गए थे. इस बार मैकेन ने उनका समर्थन किया है.

उधर टेक्सस के गवर्नर रिक पेरी ने न्यूहैंपशर की जगह साउथ कैरोलाइना पर ध्यान देने का फ़ैसला किया.

उधर पिछले हफ़्ते के आयोवा चुनाव में तीसरे स्थान पर रहे रॉन पॉल ने एक बार फिर बेहतर प्रदर्शन किया और उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि वह रोमनी के पीछे ही हैं.

पॉल का कहना था कि उन्हें जो लय मिली है वो अब रुकने वाली नहीं है.

विश्लेषकों के अनुसार न्यूहैंपशर में लगभग ढाई लाख रिपब्लिकन मतदाताओं ने इसमें हिस्सा लिया.

संबंधित समाचार