पाकिस्तान में धमाका, 17 मरे

धमाके के घायलों को अस्पताल ले जाते लोग
Image caption पाकिस्तान में अक्सर शिया समुदाय के जूलुसों पर हमले होते रहे हैं

पाकिस्तान के ख़ानपुर शहर में शियाओं के धार्मिक जुलूस चहल्लुम में हुए एक बम धमाके में कम से कम 17 लोग मारे गए हैं और 20 अन्य घायल हो गए हैं.

इलाक़े के पुलिस अधिकारी सोहेल चट्हा ने रायटर्स समाचार एजेंसी को बताया कि बम बिजली के एक खंभे के पास लगाया गया था जिसमें रिमोट के ज़रिए धमाका किया गया.

उन्होंने बताया कि जैसे ही वहां से जुलूस गुज़रा, इसमें धमाका हो गया.

जुलूस में शामिल इमरान इक़बाल नामक एक शख़्स ने रायटर्स को बताया, ''जुलूस से कुछ दूरी पर एक ज़ोरदार धमाका हुआ और हम घबराकर भागे.''

उन्होंने बताया, ''चारों तरफ़ मलबा फ़ैला था और धूल का ग़ुबार उठ रहा था. कई लोग घटनास्थल पर ही मारे गए.''

पुलिस के साथ झड़प

धमाके के बाद शिया समुदाय के आक्रोशित सदस्यों की पुलिस के साथ झड़प भी हुई. इन लोगों का आरोप था कि पुलिस ने जुलूस के लिए सुरक्षा के पर्याप्त इंतज़ाम नहीं किए.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि अभी तक किसी संगठन ने इस धमाके की ज़िम्मेदारी नहीं ली है.

वैसे दक्षिण पंजाब पाकिस्तान के सुन्नी चरमपंथी गुट लश्कर-ए-झांगवी का गढ़ रहा है जो अपने शिया विरोधी रूख़ के लिए जाना जाता है.

पाकिस्तान में हाल के वर्षों में शिया समुदाय के लोगों को निशाना बनाकर कई बम धमाके किए गए हैं और गोलीबारी की घटनाएं भी हुई हैं.

इस्लाम धर्म के शिया संप्रदाय के लोग पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद के नाती इमाम हुसैन की मौत के चालीसवें दिन चहल्लुम मनाते हैं. इमाम हुसैन की मौत इराक़ के शहर करबला में 680 ईस्वी में हुई थी.

संबंधित समाचार