109 लोगों को पद्म सम्मान

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption भूपेन हज़ारिका का हाल ही में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था

भारत सरकार ने इस वर्ष के पद्म सम्मानों की घोषणा कर दी है. पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री को मिलाकर विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले कुल 109 लोगों को इस वर्ष ये सम्मान देने की घोषणा की गई है.

दिवंगत संगीतकार एवं गायक भूपेन हज़ारिका, दिवंगत कार्टूनिस्ट एवं चित्रकार मारियो मिरांडा, पूर्व नौकरशाह और राज्यपाल टीवी राजेश्वर सहित पाँच लोगों को पद्म विभूषण देने की घोषणा की गई है.

फ़िल्म अभिनेता धर्मेंद्र, अभिनेत्री शबाना आज़मी, फ़िल्म निर्देशक मीरा नायर, चित्रकार जतिन दास, शिल्पकार अनीश कपूर, कार्णिक संगीतकार टीवी गोपालकृष्णन और एमएस गोपालकृष्ण सहित 27 लोगों को पद्म भूषण देने की घोषणा की गई है.

फ़िल्म संगीतकार वनराज भाटिया, नाटककार मोतीलाल खेमू, भजन गायक अनूप जलोटा, फ़िल्म निर्देशक प्रियदर्शन, उद्योगपति प्रिया पॉल और स्वाति पीरामल, मराठी नाटककार सतीश अलेकर सहित 77 लोगों को पद्मश्री सम्मान देने की घोषणा की गई है.

इस वर्ष भी भारत रत्न की घोषणा नहीं की गई है. वर्ष 2008 में आख़िरी बार भीमसेन जोशी को ये सम्मान देने की घोषणा की गई थी.

एक तिहाई पुरस्कार कला-संस्कृति क्षेत्र से

Image caption गायक अनूप जलोटा बहुत लोकप्रिय रहे हैं

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म सम्मानों की घोषणा की गई है.

इस सूची में 19 महिलाएँ हैं जबकि एक तिहाई सम्मान कला और संस्कृति के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले लोगों को दिया गया है.

सम्मान पाने वालों की सूची में 14 लोग अप्रवासी भारतीय या भारतीय मूल के भारतीय हैं या फिर दिवंगत हैं.

जिन अन्य दो लोगों को पद्म विभूषण दिया गया है, उनमें चित्रकार एवं मूर्तिकार केजी सुब्रमण्यम और हड्डीरोग विशेषज्ञ कांतिलाल एच संचेती हैं.

डॉ संचेती पुणे के वही डॉक्टर हैं जिनके अस्पताल में हाल ही में अन्ना हज़ारे का इलाज किया गया था.

पद्म भूषण पाने वाले प्रमुख व्यक्तियों में पूर्व केंद्रीय सतर्कता आयुक्त एन विट्ठल, अमरीका के पूर्व राजदूत रोनेन सेन, उद्योगपति बी मुथुरामन, सुब्बिया वेलायन, प्रख्यात हृदयरोग विशेषज्ञ देवी प्रसाद शेट्टी और कैंसर विशेषज्ञ सुरेश एच आडवाणी भी शामिल हैं.

एन विट्ठल के पद पर रहते हुए सतर्कता आयोग चर्चा में आया था, जबकि रोनेन सेन के राजदूत रहते हुए भारत और अमरीका के बीच चर्चित परमाणु समझौता संभव हो सका था. हालांकि वे इस बात के लिए भी विवादों के केंद्र में थे कि उन्होंने भारतीय संसद सदस्यों को 'हेडलेस चिकन' कह दिया था.

जिन खिलाड़ियों को इस वर्ष ये सम्मान दिया गया है, उनमें महिला क्रिकेट खिलाड़ी झूलन गोस्वामी, पूर्व हॉकी खिलाड़ी जफ़र इक़बाल, धनुर्धर लिंबा राम और पूर्व क्रिकेट कमेंटेटर रवि चतुर्वेदी शामिल हैं. इन सभी को पद्मश्री देने की घोषणा की गई है.

संबंधित समाचार