'डॉक्टर ने बताया था ओसामा का पता'

लियोन पनेटा
Image caption अमरीकी रक्षा मंत्री लिओन पनेटा ने डॉक्टर अफ़्रीदी के प्रति पाकिस्तान के रवैये पर चिन्ता व्यक्त की

अमरीकी रक्षा मंत्री लिओन पनेटा ने सार्वजनिक तौर पर ये माना है कि ओसामा बिन लादेन के ठिकाने का पता लगाने में एक पाकिस्तानी डॉक्टर ने उसकी सहायता की थी.

पिछले वर्ष मई में अमरीकी सुरक्षा बलों ने ऐबटाबाद पर हमला किया था और वहां छिपे अल-क़ायदा नेता ओसामा बिन लादेन को मार दिया था.

शिकाल अफ़रीदी नाम के इस डॉक्टर को पाकिस्तान में गिरफ़्तार किया जा चुका है और उनपर राजद्रोह का आरोप लगाया गया है.

एक अमरीकी टेलिविज़न चैनल, सीबीएस को दिए साक्षात्कार में लिओन पनेटा ने पाकिस्तान के डॉक्टर अफ़रीदी के प्रति रवैये पर चिन्ता भी जताई.

पनेटा ने पाकिस्तान की आलोचना करते हुए कहा कि दोनों देश ही आतंकवाद के ख़िलाफ लड़ना चाहते हैं.

पनेटा ने कहा, “इस व्यक्ति ने ख़ुफ़िया जानकारी देकर इस ऑपरेशन में मदद की, ये किसी भी तरीके से देशद्रोही नहीं है, ये पाकिस्तान को कमज़ोर करने के लिए नहीं था, उन्होंने आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ने में मदद की, मैं इसे पाकिस्तान की ग़लती समझता हूं.”

टीकाकरण से जुटाई जानकारी

एपी समाचार एजंसी के मुताबिक अफ़रीदी ने अमरीकी ख़ुफ़िया एजंसी सीआईए के लिए टीकाकरण का अभियान चलाया.

इसके ज़रिए डीएनए के नमूने इकट्ठे किए गए और ये पुष्टि की जा सकी कि ओसामा बिन लादेन ऐबटाबाद के कम्पाउंड में ही छिपा है.

पनेटा ने अपने साक्षात्कार में ये भी कहा कि पाकिस्तानी सरकार में किसी व्यक्ति को ये अहसास ज़रूर रहा होगा कि इस कम्पाउंड में कोई संदिग्ध व्यक्ति हो सकता है.

हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि उनके पास कोई ठोस प्रमाण नहीं है जिससे साबित हो सके कि पाकिस्तान को उस व्यक्ति के बिन लादेन होने की जानकारी थी.

पनेटा ने बताया कि उन्हें मिली ख़ुफ़िया जानकारी के मुताबिक अमरीकी हमले से पहले ही पाकिस्तानी सेना के हेलिकॉप्टर ऐबटाबाद के कम्पाउंड के ऊपर से गुज़रे थे.

उन्होंने कहा कि यही वजह थी कि अमरीकी हमले की जानकारी पाकिस्तान को नहीं दी गई ताकि कहीं वो लादेन को चौकन्ना ना कर दें.

पनेटा का ये साक्षात्कार रविवार को टेलिविज़न पर प्रसारित किया जाएगा.

संबंधित समाचार