सीरिया का दावा, बाग़ियों को राजधानी से खदेड़ा

सीरिया इमेज कॉपीरइट a
Image caption प्रदर्शनारियों का कहना है कि सीरिया में विभिन्न झड़पों में 100 लोग मारे गए हैं.

सीरिया की सरकार ने कहा है कि उसने तीन दिन की लड़ाई के बाद बाग़ियों के दमिश्क के किनारे तक पहुँचने के प्रयासों को विफल कर दिया है.

विपक्ष का कहना है कि उसने एक रणनीति के तहत राजधानी से वापसी की है और वह छापामार हमले करेगा.

एक कार्यकर्ता ने कहा कि सरकार के सुरक्षा बल दमिश्क के बाहरी हिस्सों से आ कर सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार कर रहे हैं और घरों में लूटपाट कर रहे हैं.

हिंसा और झड़पें

प्रदर्शनारियों का कहना है कि सीरिया में विभिन्न झड़पों में 100 लोग मारे गए हैं.

विपक्ष के गढ़ होम्स से लगातार झड़पें की खबरें आ रही हैं. होम्स में सोमवार को सबसे अधिक 72 लोगों के मारे जाने की खबर है.

कार्यकर्ताओं का कहना है कि सोमवार की हिंसा में मरने वालों में कम के कम 40 नागरिक हैं हालांकि उनके दावों की निष्पक्ष तौर पर पुष्ठि नहीं हो पाई है.

संयुक्त राष्ट्र ने माना है कि वह मरने वालों की कुल संख्या के बारे में पता नहीं लगा सकता.

पश्चिमी देशों की योजना

उधर सीरिया में संकट पर पश्चिमी देश सुरक्षा परिषद की होने वाली बैठक में कड़ा प्रस्ताव पारित कराने की तैयारी कर रहे हैं.

अरब लीग के महासचिव नबिल अल-अरबी परिषद से माँग करेंगे कि वह लीग की सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद के इस्तीफा माँगने की नई योजना का समर्थन करें.

इस बीच बीबीसी के बेरूत में संवाददाता ने कहा कि आंतरिक मंत्रालय ने राजधानी के पूर्वी छोर पर पिछले तीन दिन की लड़ाई को सुरक्षा बलों का 'गुणात्मक ऑप्रेशन' करार दिया है

कार्यकर्ताओं ने कहा कि सुरक्षा बल रंकूस के पर्वतीय शहर में घुस चुके हैं जो दमिश्क के उत्तर में ही है और जहाँ पर लगभग एक सप्ताह से बम्बारी हो रही है.

पिछले साल दिसंबर में संयुक्त राष्ट्र ने कहा था कि सीरिया में मार्च में शुरु हुए सरकार-विरोधी प्रदर्शनों को दबाने की मुहिम में 5,000 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

जबकि सीरिया के अधिकारियों का कहना है कि इस झड़प में 2,000 सुरक्षाकर्मी मारे जा चुके हैं.

संबंधित समाचार