सेना के दो पूर्व अधिकारियों के ख़िलाफ़ मामला

Image caption सीबीआई ने सेना को दो पूर्व अधिकारियों के कदाचार को गंभीरता से लिया है

भारत की केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने सेना के दो पूर्व अधिकारियों के ख़िलाफ़ आपराधिक साजिश रचने, आपराधिक कदाचार और धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज़ किया है.

इन अधिकारियों के नाम सेवानिवृत्त लेफ़्टिनेंट जनरल नोबेल थम्बुराज और एस आर नैय्यर हैं.

थम्बुराज पुणे सर्कल के तहत आने वाली दक्षिणी कमान के जनरल ऑफ़िसर कमांडिंग-इन-चीफ़ थे जबकि नैय्यर स्टेट ऑफ़िसर के पद पर कार्यरत थे.

सीबीआई की एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, दोनों अधिकारियों पर अभियोग है कि उन्होंने पद पर रहते हुए लोठियां रोड स्थित 'बंगला नंबर 84' सम्पत्ति के मामले में पुणे के एक बिल्डर की ग़लत तरीके से मदद की.

'गंभीर कदाचार'

सीबीआई का कहना है कि दोनों अधिकारियों ने सेना की 0.96 एकड़ भूमि के मामले को आपसी सहमति से निपटा दिया जबकि अदालत ने इस मामले में सेना के पक्ष में ही फ़ैसला सुनाया था.

सीबीआई ने इसे लोकसेवकों द्वारा कदाचार का गंभीर मामला माना है. जांच एजेंसी का कहना है कि दोनों अधिकारियों ने रक्षा मंत्रालय के मौज़ूदा नियमों और नीतियों का उल्लंघन किया है.

जांच एजेंसी का ये भी कहना है कि दोनों अधिकारियों ने इस मामले में पुणे के एक बिल्डर को लगभग 46 करोड़ रूपए का फ़ायदा पहुंचाया.

सीबीआई ने इस सिलसिले में दोनों अधिकारियों के पुणे स्थित आवासों और बिल्डर के कोरेगांव स्थित ठिकानों पर छापे मारकर कुछ दस्तावेज़ ज़ब्त किए हैं.

संबंधित समाचार