बैंकॉक हमलों के 'निशाने पर इसराइली राजनयिक थे'

बैंकॉक में विस्फोट इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption बैंकॉक में हुए विस्फोट से एक दिन पहले भारत और जॉर्जिया में विस्फोट हुए थे

थाईलैंड में पुलिस पहली बार ये कह रही है कि थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में हुए कई विस्फोटों का निशाना दो इसराइली राजनयिक थे.

निशाने पर कोई ख़ास व्यक्ति था या नहीं इस बारे में कोई और ब्यौरा उपलब्ध नहीं है मगर हमले की योजना काफ़ी आगे के दौर में थी.

इसराइली अधिकारियों ने मंगलवार को बैंकॉक में हुए बम विस्फोटों को जॉर्जिया और भारत में उसके राजनयिकों को निशाना बनाए जाने से जोड़ा है.

इसराइल का आरोप है कि इन तीनों हमलों में ईरान का हाथ है मगर ईरान इनमें शामिल होने से इनकार कर रहा है.

बैंकॉक में मंगलवार को हुए हमले के सिलसिले में दो लोग हिरासत में हैं, तीसरे व्यक्ति की गिरफ़्तारी मलेशिया में हुई जब वह ईरान जाने के लिए विमान पर चढ़ने वाला था.

पुलिस अभी चौथे संदिग्ध व्यक्ति की तलाश कर रही है. वह एक महिला है और उस घर की मालकिन थी जहाँ ये तीनों ईरानी रह रहे थे. आशंका व्यक्त की जा रही है कि वह थाईलैंड से भाग चुकी है.

घटनाक्रम

ये घटना सामने तब आई जब बैंकॉक के मध्य में एक विस्फोट में उनके घर की छत उड़ गई.

उस विस्फोट में दो व्यक्ति बचने में क़ामयाब रहे.

तीसरे व्यक्ति को कुछ चोटें आईं और उसने एक टैक्सी लेने की कोशिश की. जब टैक्सी उसके लिए नहीं रुकी तो उसने उस पर एक बम भी फेंका.

बाद में जब पुलिस ने उसे घेरा तब उसने एक बम पुलिस की ओर भी फेंका. मगर इस दौरान उसने ख़ुद को ही घायल कर लिया और उसके दोनों पैर इसमें उड़ गए.

घटना में चार अन्य लोग भी घायल हुए.

बैंकॉक में हुए इन विस्फोटों से एक ही दिन पहले भारत और जॉर्जिया में दो हमले हुए थे.

दिल्ली में हुए हमलों में एक इसराइली राजनयिक घायल हुई. थाईलैंड की पुलिस का कहना था कि उसने जो उपकरण बरामद किया है वे कुछ वैसे ही हैं जैसे दिल्ली और जॉर्जिया में इस्तेमाल हुए थे.

संबंधित समाचार