प्रतिक्रियाएँ: 'कहीं खुशी कहीं ग़म'

Image caption अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी

समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा है कि समाजवादी पार्टी की जीत का मतलब यह है कि लोगों ने जाति धर्म से ऊपर उठकर वोट दिया है.

उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद उनकी पार्टी अपने पूरा घोषणा पत्र को पूरी तरह लागू करेगी.

उन्होंने कहा कि पूरी पार्टी और कार्यकर्ता चाहते हैं कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) मुख्यमंत्री बनें लेकिन पार्टी के संसदीय दल की बैठक में इस पर फैसला किया जाएगा.

मुख्तार अब्बास नकवी, भाजपा- हम किसी से गठबंधन नहीं करेंगे.

रीता बहुगुणा जोशी, कांग्रेस- मिशन 2012 फेल हो गया है. हम लोग इससे बेहतर नतीजों की उम्मीद कर रहे थे. लेकिन राहुल गांधी इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं.

संजय निरूपम, कांग्रेस- हमारी कोशिश यूपी में सरकार बनाने की नहीं बल्कि मुख्य धारा में आने की थी. उसमें हमें सफलता मिली है.

सचिन पायलट, कांग्रेस- उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के प्रदर्शन को इस तरह से देखना चाहिए कि हमने बीस सीट के आगे क्या हासिल किया. कुल मिलाकर हमारा प्रदर्शन ठीक रहा है.

राजीव शुक्ला, कांग्रेस- यूपी में हम वो शक्ति बन गए हैं जिसका कुछ मायने है. हम वहां किंग मेकर की भूमिका में हैं.

प्रकाश जावडेकर, भाजपा- उत्तर प्रदेश में जनता ने बसपा को नकार दिया है. हमने अपनी स्थिति में सुधार किया है. ये भी साबित हो गया है कि कांग्रेस का वहां कोई अस्तित्व नहीं है.

उत्तराखंड

Image caption हरीश रावत, कांग्रेस

हरीश रावत, कांग्रेस- उत्तराखंड में कांग्रेस जीत रही है और अकेले दम पर सरकार बनाएगी.

Image caption रमेश पोखरियाल निशंक, भाजपा नेता

रमेश पोखरियाल निशंक, भाजपा- हम जीत रहे हैं,हमारी ही सरकार बनेगी.जनता ने हमारे विकास के नारे को समझा है.

राजकुमार, कांग्रेस- जनता कांग्रेस के साथ है

राजीव जैन, कांग्रेस- कांग्रेस की सरकार बन रही है. हरीश रावत मुख्यमंत्री बनेंगे.वो निर्विवाद नेता हैं.

पंजाब

अंबिका सोनी, कांग्रेस- मैं ये नहीं बता सकती कि अकाली दल ने ऐसा क्या किया कि वे जीत रहे हैं. हमें अकाली शासन की कमजोरियों को ठीक से उजागर करना था, शायद हम नहीं कर पाए.

राशिद अल्वी,कांग्रेस- इन चुनाव परिणामों का राष्ट्रीय राजनीति और अगले लोकसभा चुनाव से कुछ भी लेना-देना नहीं है.

सुषमा स्वराज,भाजपा- हमारे लिए ये परिणाम मिली-जुली अनुभूति लेकर आए हैं. यानी कहीं खुशी कहीं गम.

सलमान खुर्शीद, कांग्रेस- चुनाव से पहले हमने जो वादे किए थे चुनाव से पहले उस पर अभी भी कायम हैं. हमारा वोट प्रतिशत बढ़ा है. राहुल गांधी के प्रचार करने से ही कांग्रेस की स्थिति बेहतर हुई है.

Image caption पंजाब में अकाली दल और भाजपा गठबंधन की दोबारा सत्ता में वापसी हो रही है

कैप्टन अमरिंदर सिंह, कांग्रेस- हम नई सरकार को शुभकामना देते हैं और उम्मीद करते हैं कि वो पंजाब की तरक्की के लिए काम करेगी.

प्रकाश सिंह बादल, अकाली दल- हमारी जीत के दो प्रमुख कारण थे. एक तो कानून-व्यवस्था की स्थिति बहुत अच्छी थी और दूसरे वहां विकास खूब हुआ.

नितिन गडकरी, भाजपा- विधान सभा चुनावों से पता चलता है कि जनता ने कांग्रेस के खिलाफ मतदान किया है. हम भाजपा के प्रदर्शन से काफी खुश हैं और ये चुनाव हमें अगले लोकसभा चुनाव के लिए ताकत देंगे.

संबंधित समाचार