ईरान को इसराइल की चेतावनी

 मंगलवार, 6 मार्च, 2012 को 16:44 IST तक के समाचार

बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि यहूदी राज्य ये बर्दाश्त नहीं करेगा कि कोई अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए हमारा विनाश करे

इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का कहना है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर विराम लगाने के लिए समय कम बचा है.

अमरीका में इसराइल समर्थित एक सम्मेलन में नेतन्याहू ने कहा कि वे अपने लोगों को विनाश की छाया में रहने नहीं दे सकते.

इसराइल को भय है कि ईरान परमाणु हथियार बनाने की कोशिश कर रहा है और उस पर हमले की अटकलें हाल में तेज हो गई हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि कूटनीति के जरिए ईरान का मसला हल करने के लिए समय अभी भी बचा है लेकिन तमाम विकल्प खुले हुए हैं.

अमरीकी-इसराइल पब्लिक अफेयर्स कमेटी के सम्मेलन में 13,000 प्रतिनिधियों की मौजूदगी में नेतन्याहू ने कहा, ''ये दुर्भाग्य की बात है कि ईरान का परमाणु कार्यक्रम आगे बढ़ रहा है.''

उन्होंने कहा, ''इसराइल के प्रधानमंत्री के तौर पर मैं अपने लोगों को विनाश की छाया में नहीं रहने दूंगा.''

कूटनीतिक रास्ता

सोमवार को नेतन्याहू ने व्हाइट हाउस में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात की थी. अमरीका का कहना है कि दोनों देशों के संबंध 'अटूट' हैं.

ओबामा ने कहा कि अमरीका मानता है कि ईरान के मुद्दे पर कूटनीतिक समाधान की अभी भी गुंजाइश है. हालांकि बाद में उन्होंने ये भी कहा कि अमरीकी अपने सभी विकल्प खुले रखेगा.

उन्होंने कहा, ''हम सैन्य कार्रवाई की लागत को समझते हैं.''

लेकिन सम्मेलन में नेतन्याहू ने कहा, ''इसराइल ने इंतजार किया है कि कूटनीति अपना काम करे. हमने प्रतिबंधों के असर की राह देखी. लेकिन इनमें से कोई भी हमें ज्यादा समय तक इंतजार नहीं करा सकता.''

वहीं ईरान का कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.