इतिहास के पन्नों से- 24 मार्च

इमेज कॉपीरइट AP

इतिहास के पन्नों में 24 मार्च का दिन

1989- एग्ज़ॉन वाल्देज़ का तेल रिसाव

एग्ज़ॉन वाल्देज़ तेल टैंकर के अलास्का के तट के पास ब्लाइ रीफ़ से टकरा जाने के बाद कई गैलन कच्चा तेल समुद्र में फैल गया.

टक्कर के बाद एक किनारे से उसमें छेद हो गया और तेल लगभग 13 किलोमीटर के समुद्र क्षेत्र में फैल गया.

तेज़ हवाओं के चलते तेल को समुद्र की सतह से खींचने की कोशिशों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा और नागरिकों ने हवा में भी उसके असर की शिकायत की.

पर्यावरणविद उस समुद्र क्षेत्र में मौजूद लगभग एक करोड़ समुद्री बत्तखों को भी बचाने के लिए संघर्ष करते रहे.

टैंकर के पास वे बत्तख और सील तेल में लथपथ दिखे.

तटरक्षक ऐसे रसायन डालने की कोशिश कर रहे हैं जिससे तेल की वो सतह हटाई जा सके.

मगर वो सफ़ाई का काम बहुत धीमे चल रहा है.

एग्ज़ॉन शिपिंग के प्रमुख फ़्रैंक लरोसी ने कहा, "साफ़-सफ़ाई का काम काफ़ी अच्छा नहीं जा रहा है. बल्कि मेरी मानिए तो ये भी मैं कुछ कम ही कह रहा हूँ."

लरोसी ने बताया कि तेल टैंकर अपने रास्ते से लगभग एक मील तक भटक गया था. उन्होंने बताया कि जहाज़ के रास्ते में बर्फ़ के कई पहाड़ आ गए थे जिसे देखते हुए कैप्टर जो हेज़लवुड ने उन बर्फ़ के बड़े-बड़े टुकड़ों से बचकर निकलने को कहा.

उसके बाद चालक दल वापस मुड़ने में नाकाम रहा और जहाज़ की टक्कर हो गई.

1953- महारानी मैरी का बीमारी के बाद निधन

ब्रिटेन की महारानी की दादी महारानी मैरी का सोते हुए निधन हो गया.

मार्लबरॉ हाउस के बाहर रात सवा ग्यारह बजे लगे एक संदेश में उनके निधन की सूचना दी गई.

उसमें कहा गया था, "सोते हुए महारानी मैरी का 10 बजकर 20 मिनट पर निधन हो गया."

बीबीसी ने लाइट ऐंड थर्म कार्यक्रम रोकते हुए 11 बजकर 25 मिनट पर उनके निधन की सूचना दी.

महारानी मैरी 85 वर्ष की थीं और कुछ समय से बीमार चल रही थीं.

लोगों को जैसे ही महारानी मैरी की बीमारी बढ़ने का पता लगा था वे मार्लबरॉ हाउस के पास इकट्ठा होने लगे थे और दिन भर वहीं खड़े रहे.

जैसे ही महारानी मैरी के निधन की ख़बर फैली वहाँ मौजूद लोगों ने अपने हैट उतार दिए और कई महिलाओं की आँखों में आँसू थे.

प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल ने हाउस ऑफ़ कॉमन्स में ये सूचना दी और कार्यस्थगन का प्रस्ताव रखा. विपक्ष के नेता क्लीमेंट एटली ने ये प्रस्ताव स्वीकार किया और कहा कि पूरा सदन इस पर अफ़सोस व्यक्त करता है.

संबंधित समाचार