कैसे होती है गिफ्ट कार्ड की बर्बादी

गिफ्ट कार्ड
Image caption कार्ड की कीमत का छह फीसदी हिस्सा लोग कभी प्रयोग नहीं कर पाते हैं

ब्रिटेन में लोग खुदरा दुकानों के गिफ्ट कार्ड जमकर खरीदते हैं और हर साल 25 करोड़ पाउंड उन कार्डों पर बर्बाद कर देते हैं जिनका वे इस्तेमाल नहीं करते.

इन गिफ्ट कार्डों के जरिए लोग चुनिंदा दुकानों से अपने पसंद की चीज खरीद सकते है.

आंकड़े बताते हैं कि ब्रिटेन में सालाना चार अरब पाउंड से ज्यादा के उपहार कार्ड बेचे जाते हैं जिनमें से लगभग आधे निजी तोहफे की शक्ल में होते हैं जबकि बाकी कारोबार में उपहार के तौर पर लिए और दिए जाते है.

लेकिन इस तरह के कार्ड की कीमत का छह फीसदी हिस्सा लोग कभी प्रयोग नहीं कर पाते हैं, क्योंकि कार्डों की अवधि कुछ ही दिनों में खत्म हो जाती है.

इसकी वजह ये बताई जाती है कि कई लोगों को पता नहीं होता कि कार्ड पर एक्सापायरी डेट भी लिखी होती है जो कार्ड के पिछले हिस्से में होती है और बेहद छोटे अक्षरों में छपी होती है.

गिफ्ट कार्ड का व्यापार करने वालों के संगठन का कहना है कि कई दुकानदार हर उपयोग पर कार्ड की अवधि बढ़ा देते है.

कार्ड की अवधि

संगठन का कहना है कि साल 2011 में खुदरे दुकानों से दो अरब पाउंड के गिफ्ट कार्ड बेचे गए, जबकि 2.18 अरब पाउंड के कार्ड व्यापारिक प्रयोग के लिए खरीदे गए.

संगठन का कहना है कि साल 2011 में दुकानों से दो अरब पाउंड के गिफ्ट कार्ड खरीदे गए थे, जबकि व्यवसायिक प्रयोग के लिए 2.18 अरब पाउंड के कार्ड खरीदे गए थे.

कार्ड के एक्सपायरी डेट के बारे में ज्यादातर लोगों को नहीं पता होता है, क्योंकि इस बारे में जानकारी काफी छोटे अक्षरों में कार्ड के पीछे लिखी होती है.

कार्डधारकों में से एक मिक वैनेल ने कहा, “जब मैने कार्ड का प्रयोग करना चाहा तो मुझे बतायागया कि उसमें पैसे नहीं बचे, लेकिन ऐसा नहीं था वो सिर्फ बंद हो गया था क्योंकि उसे दो साल तक प्रयोग नहीं किया गया था. लेकिन उसमें पैसे तो थे ही.”

आम तौर पर कार्ड की अवधि के बारे में पता करने के लिए दुकानदार से पूछा जा सकता है. कुछ कार्ड प्रदाता कंपनियां ऑनलाइन भी जानकारी उपल्बध कराते है.

संबंधित समाचार