ताईवान में लड़कियों की कमी से चिंता

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ताईवान में लोग चाहते हैं कि घर में बेटा ही जन्में

ताईवान में जन्म दर दुनिया भर में सबसे कम है. इस साल देश में बच्चों के जन्म दर में बीस फीसदी का इजाफा हुआ है लेकिन लड़कों के मुकाबले लड़कियों की संख्या में भारी कमी आई है.

साल 2010 में ताईवान की जन्म दर पूरी दुनिया में सबसे कम थी जिसकी वजह से वहां के अधिकारियों को चिंता हो रही थी.

इस साल जन्म दर के बढ़ने की वजह चीनी कैलेंडर का ड्रैगन साल भी जिम्मेदार है जिसे चीनी लोग जन्म देने के लिए अच्छा साल मानते हैं.

लेकिन लड़कियों के जन्म में कमी आई है जिसकी वजह से ताईवान के अधिकारी परेशान भी हैं.

इस साल की औसत के अनुसार 109 लड़कों में 100 लड़कियों का जन्म हुआ है. दूसरे कई देशों की तरह ताईवान में भी लड़कों को लड़कियों के मुकाबले तरजीह दी जाती है.

लड़कियों की कमी की वजह से ताईवान में कई सामाजिक समस्याएं पैदा होने लगी है. लड़कों को शादी के लिए दुल्हन ढूंढने में परेशानी हो रही है और उन्हें सीमा पार चीन में शादी करनी पड़ रही है.

सरकार के कदम

पिछले कुछ साल में सरकार ने की कदम उठाए हैं जिससे लड़कियों को भी बराबर मान्यता मिले.

मसलन लड़कियों को अपने नाम से व्यापार करने की अनुमति दी गई है. लिंग अनुपात को कम करने के लिए सरकार ने लिंग विशेष गर्भपात के खिलाफ सजा को और कड़ा कर दिया है.

स्वास्थ्य अधिकारी अस्पतालों में रिकॉर्ड की जांच करने के लिए दौरे कर रहे हैं और डॉक्टरों पर भी नजर रख रहे हैं.

लेकिन लोगों का मानना है कि इसमें बड़ी कमी तभी आएगी जब सरकार लोगों में जागरूकता के लिए कदम उठाएगी.

संबंधित समाचार