ओबामा के सुरक्षाकर्मी 'नजरबंद'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption दुर्व्यवहार के आरोप अमरीकी देशों की शिखर बैठक के दौरान लगे हैं.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की सुरक्षा में लगे पांच सैन्य अधिकारियों को उनके बैरक में 'नजरबंद' कर दिया गया है.

इनपर राष्ट्रपति की कोलंबिया यात्रा की सुरक्षा का जिम्मा था.

अब इन अधिकारियों को जांच का सामना करना होगा जिसमें दुर्व्यवहार के आरोपों की पड़ताल शामिल हो सकती है.

अमरीकी अखबारों में छपी खबरों में इन सभी लोगों के यौनकर्मियों से मिलने का जिक्र है.

इससे पहले शुक्रवार को अमरीकी खुफिया विभाग के 11 एजंट वापस बुला लिए गए थे. ये अधिकारी उसी होटल में रह रहे थे जहां एजंट रह रहे थे.

एजंटों को बर्खास्त कर दिया गया है लेकिन अधिकारियों को 'नजरबंद' कर दिया गया है.

'निराश'

ये लोग अभी कोलंबिया में ही हैं, लेकिन उन्हें एक खास स्थान पर रखा गया है और उन्हें किसी अन्य व्यक्ति से बात करने की अनुमति नहीं है.

नजरबंद किए गए पांचों सैन्य अधिकारी अमरीकी देशों के शिखर सम्मेलन के लिए बने संयुक्त कार्यबल का हिस्सा हैं जो अमरीकी सीक्रेट सर्विस के साथ मिल कर काम कर रहा है.

वे अभियान पूरा होने के बाद ही पूरे दल के साथ अमरीका लौटेंगे.

अमरीकी सदर्न कमांड के कमांडर जनरल डगलस फ्रैसर ने कहा कि वह, "इस पूरी घटना से निराश हैं और यह व्यवहार अमरीकी सेना के पेशेवर मानकों के मुताबिक कतई नहीं है."

उन्होंने कहा कि सारे मामले की पूरी तरह छानबीन होगी और जरूरत पड़ी तो निर्धारित नीतियों और सैन्य न्याय संहिता के मुताबिक सजा भी दी जाएगी.

ओबामा के कोलंबिया पहुंचने के थोड़ी देर राजधानी बोगोटा स्थित अमरीकी दूतावास के बाहर एक बम फटा था जिसमें कोई घायल नहीं हुआ था.

संबंधित समाचार