अमरीकी किशोरों में सेक्स का चलन कितना?

किशोर इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption क्या पश्चिमी देशों के किशोर किशोरियाँ सेक्स के प्रति ज़्यादा खुले होते हैं?

पश्चिमी देशों के बारे में आम तौर पर ये धारणा रहती है कि वहाँ रहने वाले किशोर-किशोरियाँ सेक्स के प्रति उदार होते हैं.

भारत जैसे परंपरागत देशों में अक्सर इस बात पर चिंता भी जताई जाती है कि पश्चिम की देखा देखी यहाँ भी नई उम्र के बच्चे सेक्स के प्रयोग करने लगे हैं.

लेकिन अमरीका में हुए एक नए शोध से पता चलता है कि वहाँ के किशोरों में सेक्स को लेकर उत्सुकता भले ही कम न हुई हो पर उनमें सेक्स का चलन ज़रूर कम हुआ है.

राष्ट्रीय परिवार विकास सर्वेक्षण ने 1995 से 2002 के बीच और फिर 2006 और 2010 के बीच आँकड़े इकट्ठा किए हैं.

इन आँकड़ों से पता चलता है कि 1995 के आसपास 15 से 19 वर्ष की 49 प्रतिशत किशोरियों ने माना था कि उन्होंने कभी योनि-सेक्स नहीं किया.

कम उतावलापन

Image caption अमरीका में किशोरी माताओं की संख्या दूसरे विकसित देशों के मुक़ाबले ज़्यादा है.

लेकिन 2010 के आसपास किए गए सर्वेक्षण के दौरान इस आयुवर्ग की 57 प्रतिशत किशोरियों ने स्वीकार किया कि उन्होंने कभी योनि-सेक्स नहीं किया है.

स्पष्ट है कि अमरीकी किशोर पीढ़ी में सेक्स के प्रति उतावलापन कम हुआ है.

इसी सर्वेक्षण में कहा गया है कि सेक्स करने वाले किशोर-किशोरियों में से 60 प्रतिशत गर्भनिरोधकों का इस्तेमाल करते हैं.

ख़ास तौर पर वो हॉर्मोन वाली गोलियाँ और इंजेक्शन का इस्तेमाल करते हैं.

दिलचस्प बात ये है कि गोरे किशोर गर्भनिरोधकों का इस्तेमाल काले या स्पेनी किशोरों के मुक़ाबले ज़्यादा करते हैं.

जागरूकता

जिन किशोरों से इस सर्वेक्षण के लिए बात की गई उनके मुताबिक़ निरोध या कंडोम काफ़ी असरकारी गर्भनिरोधक होता है.

लेकिन लगातार सेक्स करने वाले किशोरों में से 20 फ़ीसदी ने माना कि वो कभी गर्भनिरोधकों या निरोध का इस्तेमाल नहीं करते.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अमरीका में सेक्स करने वाले साठ फ़ीसदी किशोर निरोध का इस्तेमाल करते हैं.

इस आँकड़े में कोई ख़ास अंतर नहीं आया है क्योंकि 1995 में भी 20 प्रतिशत किशोरों ने गर्भनिरोधक इस्तेमाल न करने की बात मानी थी.

सन 2010 में अमरीकी किशोरों ने तीन लाख अड़सठ हज़ार बच्चे पैदा किए थे.

अमरीका के बीमारी नियंत्रण और रोकथाम केंद्र का कहना है कि दूसरे विकसित देशों की तुलना में अमरीका में किशोर-किशोरियों के ज़्यादा बच्चे पैदा होते हैं.

इस संस्था का कहना है कि अमरीका के स्कूलों और समुदायों को किशोरों में यौन जागरूकता का प्रसार करना चाहिए.

संबंधित समाचार