हिलेरी क्लिंटन आज कोलकाता पहुंचेगी

हिलेरी क्लिंटन (फाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption हिलेरी क्लिंटन सोमवार को दिल्ली पहुंचेगीं.

अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन दो दिनों की भारत यात्रा पर रविवार को कोलकाता पहुंच रहीं हैं.

वो रविवार दोपहर को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता पहुंचेगीं. अगले दिन यानी सोमवार की सुबह लगभग 11 बजे वो राज्य की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी से राज्य सचिवालय में मुलाकात करेंगीं.

समाचार एजेंसी पीटीआई को ओबामा प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि हिलेरी इस बैठक के दौरान ममता बैनर्जी से उनके नेतृत्व में राज्य में हुई प्रगति और भारत-बंग्लादेश के रिश्तों पर वो क्या सोचती है इस बारे में चर्चा करेगी.

मुद्दे

मुलाकात में और किन-किन मुद्दों पर चर्चा होगी इस बारे में आधिकारिक तौर पर कोई पुष्टि नहीं की गई है लेकिन राजनीतिक विश्लेषक अनुमान लगा रहें हैं कि राज्य में अमरीकी निवेश, खुदरा व्यापार में विदेशी निवेश और भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता नदी समझौते पर बातचीत होगी.

हिलेरी क्लिंटन दूसरी बार कोलकाता आ रही हैं. इससे पहले 1997 में मदर टेरेसा के अंतिम संस्कार में भाग लेने के लिए वो कोलकाता आईं थीं.

कोलकाता में मुख्यमंत्री से मुलाकात के अलावा और दूसरे कार्यक्रम के बारे में आधिकारिक रूप से कोई जानकारी फिलहाल नहीं दी गई है लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि वो मदर टेरेसा के जरिए स्थापित संस्था 'मिशनरीज़ ऑफ चैरेटी' के मुख्यालय भी जा सकती हैं.

इसके अलावा कोलकाता में ही उनके एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी हिस्सा लेने की संभावना जताई जा रही है.

क्लिंटन की यात्रा के मद्देनजर पूरे शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

अमरीकी संस्था एफबीआई की टीम पिछले कुछ दिनों से शहर में डेरा जमाए है और वो कोलकाता पुलिस के साथ मिलकर हिलेरी क्लिंटन की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाले हुई है.

दोनों नेताओं की बैठक की जगह यानी कि सचिवालय को एक किले की तरह सुरक्षा के घेरे में ले लिया गया है. दोनों नेताओं के अलावा मुख्य द्वार से किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

यहां तक की दूसरे मंत्रियों और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के लिए भी अलग से दूसरे द्वार बनाए गए हैं.

मीडियाकर्मियों को भी अंदर जाने नहीं दिया जाएगा. सिर्फ केवल कुछ फोटोग्राफरों को ही दोनों नेताओं की बैठक के दौरान अंदर जाने की अनुमति होगी.

कोलकाता के बाद हिलेरी क्लिंटन दिल्ली पहुंचेगीं जहां वो विदेश मंत्री एसएम कृष्णा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा और कई नेताओं से मुलाकात करेंगीं.

ढाका

हिलेरी दो दिनों की बांग्लादेश की यात्रा के बाद भारत आ रहीं हैं. इससे पहले वो शनिवार को बांग्लादेश की राजधानी ढाका पहुंची.

शनिवार को ढाका में उन्होंने कहा कि वो हाल ही में हुए राजनीतिक हिंसा के बावजूद वो इस बात पर शर्त लगा सकती है कि बांग्लादेश में लोकतंत्र फलफूल रहा है.

कुछ ही दिन बांग्लादेश में एक प्रमुख विपक्षी नेता के अचानक गायब हो जाने के कारण देश में काफी उथल-पुथल मची हुई है.

हिलेरी क्लिंटन ने बांग्लादेश के सभी राजनीतिक दलों से एक साथ मिलकर काम करने का आह्वान किया.

उन्होंने चेतावनी दी कि अगर मौजूदा तनाव खत्म नहीं होते तो विदेशी निवेशक बांग्लादेश छोड़कर जा सकते हैं.

पिछले कुछ सप्ताह में हुए विरोध प्रदर्शनों और हड़ताल के कारण बांग्लादेश में काम काज लगभग ठप पड़ गया है और इस हिंसा में अब तक पांच लोग मारे जा चुके हैं.

हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि बांग्लादेश सरकार को इस बारे में गहराई से जांच करानी चाहिए.

संबंधित समाचार