ज्वालामुखी के पास मिला खोए विमान का मलबा

सुखोई इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption विमान खोजने के लिए चलाए गए अभियान को अंधेरे और तेज़ हवाओं का सामना करना पड़ा.

इंडोनेशिया में गायब हुए रूसी सुखोई सुपरजेट विमान का पता लगा लिया गया है. स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि एक हेलिकॉप्टर ने बुधवार को गायब हुए जहाज का मलबा देखा है.

सुखोई सुपरजेट विमान जकार्ता से अपनी प्रदर्शनी उड़ान शुरू करने के पचास मिनट के भीतर ही रडार स्क्रीनों की पकड़ से बाहर हो गई.

अधिकारियों ने कहा है कि विमान को खोजने के लिए चलाए गए खोजी अभियान में हेलिकॉप्टर ने एक निष्क्रिय ज्वालामुखी के पास विमान के मलबे को पड़ा देखा.

बताया जा रहा है कि विमान में करीब पचास लोग सवार थे.

विमान में सवार यात्रियों के बारे में कोई सूचना तो अब तक नहीं मिल पाई है, लेकिन इलाके में राहत कार्य जारी है.

रूसी सुपरजेट विमान बोगोर शहर पर उड़ान भरते हुए गायब हो हुआ था. एक प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार विमान माउट सलाक के चट्टानी इलाकों में काफी कम ऊंचाई पर उड़ रहा था.

विमान में आठ रूसी चालक दल के सदस्यों के अलावा इंडोनेशियन एयरलाइन का प्रतिनिधिमंडल और पत्रकार सवार थे.

प्रदर्शनी उड़ान

विमान खोजने के लिए चलाए गए अभियान को अंधेरे और तेज़ हवाओं का सामना करना पड़ा. इलाके में घना कोहरा होने की वजह से गुरूवार को भी अभियान शुरू करने में देर हुई.

पूर्वी जकार्ता के हालिम पर्दानाकुसुमा हवाई अड्डे से बुधवार को स्थानीय समय दोपहर के दो बजे विमान ने उड़ान भरा. बुधवार को ये विमान की दूसरी उड़ान थी.

दोपहर के दो बजकर 50 मिनट पर सूचना मिली कि विमान दस हजार फीट की ऊंचाई से नीचे आ रहा है और सलाक पर्वत तक पहुंचते हुए छह हजार फीट की ऊंचाई तक पहुंच गया है.

पर्वत श्रृंखला के पास रहने वाले एक ग्रामीण ने स्थानीय समाचार चैनल से कहा, “मैने एक बड़े विमान को अपने घर के पास से गुजरते हुए देखा.”

अधिकारियों का कहना है कि राहत दल घटनास्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं.

विमान बनाने वाली रूसी कंपनी सुखोई के अधिकारी इस नए यात्री जेट विमान की नुमाइश एशिया की विमानन कंपनियों के सामने करने के दौरे पर थी.

सुपरजेट विमान में सौ लोग बैठ सकते हैं और ये लड़ाकू जहाज बनाने वाली कंपनी सुखोई का पहला व्यवसायिक प्रयोग में लाया जाने वाला जहाज है.

रॉयटर्स के अनुसार सुखोई ऐसे 42 सुपरजेट विमान इंडोनेशिया को बेचना चाहती थी.

संबंधित समाचार