अफगानिस्तान: नेटो हमले में आठ नागरिकों की मौत

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अफगानिस्तान में नेटो के हमलों में वर्ष 2011 में सबसे ज्यादा 3021 लोग मारे गए थे

अधिकारियों का कहना है कि अफगानिस्तान के पूर्वी पकतिया प्रांत में नेटो के हवाई हमले में एक ही परिवार के आठ सदस्य मारे गए हैं.

एक प्रांतीय प्रवक्ता का कहना है कि शनिवार को गुरदा सरिया जिले के सूरी खैल गांव पर हुए हवाई हमले में एक दम्पति और उनके छह बच्चे मारे गए हैं.

वही नेटो का कहना है कि वो इन खबरों की पड़ताल कर रहा है.

इससे पहले, नेटो ने कहा था कि अफगानिस्तान में शनिवार को हुए अलग-अलग बम हमलों में उसके चार सैनिक मारे गए हैं. नेटो ने इन सैनिकों की पहचान जाहिर नहीं की है.

तनाव की वजह

पकतिया प्रांत के प्रवक्ता रोलुल्ला समून ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, ''ये एक हवाई हमला था जो नेटो ने किया था.''

उन्होंने बताया, ''मारे गए व्यक्ति का तालिबान या किसी अन्य चरमपंथी समूह से कोई संबंध नहीं है.''

काबुल स्थित एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने इस घटना की पुष्टि की है.

उन्होंने बताया, ''ये सही है. नेटो ने एक घर पर बम बरसाए. मोहम्मद शफी, उनकी पत्नी और छह मासूम बच्चे मारे गए.''

नेटो प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल जिम्मी कुमिंग्स का कहना है कि नेटो इस दावे की जांच कर रहा है.

अफगानिस्तान में नेटो के हमलों में आम लोग भी मारे जाते रहे हैं. ये मुद्दा अफगानिस्तान और अमरीका के बीच अक्सर उठा है.

पहले भी मारे गए हैं नागरिक

राष्ट्रपति हामिद करजई ने दो हफ्ते पहले ही नेटो कमांडर, जनरल जॉन एलन और अमरीकी राजदूत रेयान क्रोकर को राष्ट्रपति भवन तलब करके इस बारे में चेतावनी दी थी.

अफगानिस्तान में तैनात नेटो और अमरीकी सुरक्षाबलों ने ये स्वीकार किया है कि दो अलग-अलग हवाई हमलों में कई नागरिक मारे गए हैं.

इस बारे में एक संयुक्त बयान भी जारी किया गया, लेकिन इसमें ये नहीं बताया गया कि किस हमले में कितने लोग मारे गए.

लेकिन स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि इन हमलों में महिलाओं और बच्चों समेत 20 से ज्यादा लोग मारे गए हैं.

अफगानिस्तान में बीते पांच वर्षों में सैन्य कार्रवाई में मारे गए आम लोगों की संख्या बढ़ी है. संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2011 में सबसे ज्यादा 3021 लोग मारे गए थे.

संबंधित समाचार