बयान पर मणि के खिलाफ मामला दर्ज

एमएम मणि इमेज कॉपीरइट pti
Image caption मणि के कारण उनकी पार्टी सीपीएम को शर्मिंदगी उठानी पड़ी है

केरल में पुलिस ने एक स्थानीय वामपंथी नेता एमएम मणि के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है जिन्होंने हाल ही में एक रैली के दौरान कहा कि भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने अतीत में अपने प्रतिद्वंद्वियों हत्याएं कराई हैं.

एमएम मणि ने कहा कि वे आगे भी ऐसा ही करते रहेंगे.

उनका ये बयान 1980 के दशक में इड्डुकी राज्य में हुई राजनीतिक हत्याओं से संबंधित है.

सीपीएम ने मणि के बयान से खुद को अलग कर लिया है.

'कानून अपना काम करेगा'

सीपीएम के राज्य सचिव पी विजयन का कहना है कि मणि का भाषण एक 'गलती और पार्टी की राजनीतिक सोच के विपरीत है.'

इड्डुकी के पुलिस अधीक्षक जॉर्ज वर्गीस ने सोमवार को बीबीसी को बताया कि मणि पर 'हत्या, साजिश और सबूत नष्ट के आरोप लगाए गए हैं.'

राज्य के गृह मंत्री थिरुवंचूर राधाकृष्णन ने कहा कि सरकार ‘कानून को अपना काम करने देगी.’

बाद में मणि ने कहा कि वो अतीत में विपरीत राजनीतिक परिस्थितियों को लेकर पार्टी के प्रतिरोध का इतिहास बयान कर रहे थे.

संवाददाताओं का कहना है कि मणि के बयान के चलते सीपीएम को बड़ी शर्मिंदगी उठानी पड़ी है, जिसकी गतिविधियां पार्टी के बागी नेता टीपी चंद्रशेखरन की हलिया हत्या के बाद संदेह के दायरे आ गई हैं.

संबंधित समाचार