दक्षिण कोरिया :आत्महत्या पर रोक लगाने के लिए टीम

पार्क -योंग-हा इमेज कॉपीरइट ap
Image caption गायक और अभिनेता पार्क-योंग-हा ने जुन 2010 में 33 साल की उम्र में आत्महत्या की थी

दक्षिण कोरिया में आत्महत्याओं पर लगाम लगाने के लिए एक टीम का गठन किया गया है जो इंटरनेट पर उपलब्ध आत्महत्या करने के तरीकों की खोज करेगी ताकि उन्हें रोका जा सके.

इस टीम में करीब में 100 लोग होंगे जो समाज के अलग-अलग क्षेत्र से होंगे जिसमें छात्र, गृहणी और मानसिक रोगों के विशेषज्ञ शामिल होंगे.

दुनिया में सबसे ज्यादा आत्महत्याएं दक्षिण कोरिया में होती हैं.

आकंड़ो के मुताबिक वहां एक दिन में करीब 40 लोग आत्महत्याएं करते हैं.

सरकार इन आत्महत्याओं का एक कारण इंटरनेट पर इससे संबंधित जानकारियों का उपलब्ध होना बताती है.

इस टीम के सदस्य उन ब्लॉग या सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर नज़र रखेंगे जो लोगों को आत्महत्या के लिए प्रेरित करते हैं.

सामाजिक समस्या

ये माना जाता है कि युवा लोग इंटरनेट सर्फ कर आत्महत्या करने वाले दूसरे साथियों को ढूँढ़ कर इसके तरीकों पर चर्चा कर इस काम को अंजाम देने पर सहमति बनाते हैं.

सियोल शहर में एक सरकारी प्रवक्ता ने दक्षिण कोरिया की समाचार एजेंसी यनहप को बताया,''आत्महत्या कोई व्यक्तिगत समस्या नहीं है बल्कि ये एक सामाजिक मुद्दा बन चुकी है और हम सभी को मिलकर इसका समाधान निकालना चाहिए.''

सरकार के अनुसार एक पीढ़ी पहले के मुकाबले अब यहां आत्महत्याओं के मामले पांच गुना बढ़े हैं.

सियोल में मौजूद बीबीसी संवाददाता लूसी वीलियमसन का कहना है कि दक्षिण कोरिया में कई लोग आत्महत्याओं की बढ़ती संख्या के लिए शिक्षा प्रणाली की वज़ह से बढ़ते दबाव को कारण बताते हैं क्योंकि आत्महत्या करने वालों में ज्यादातर छात्र होते हैं.

उनका कहना है कि कुछ लोग ये मानते हैं कि देश में तेज़ी से होती आर्थिक प्रगति के कारण वहां काम के घंटे बढ़े हैं जिसके नतीजे में आत्महत्याएं बढ़ रही हैं.

आत्महत्याओं की संख्या में कमी लाने के लिए पिछले साल कई योजनाएं लाई गई थी.

आपातकाल मदद के लिए सियोल के बड़े पूलों को फोन लाइन जोड़ा गया हैं और हन नदी पर राहतकर्मियों की टीम भी गश्त लगाती है.

संबंधित समाचार