परमाणु उर्जा जापान के लिए जरूरी: नोडा

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption जापान का तोमारी परमाणु संयंत्र इस वर्ष मई में बंद हुआ.

जापान के प्रधानमंत्री योशीहोको नोडा ने टेलिविजन पर प्रसारित अपने संबोधन में कहा है कि देश की अर्थव्यवस्था की सुरक्षा के लिए जापान को अपने दो परमाणु संयंत्रों को दोबारा चालू करना होगा.

उन्होंने बताया कि ओही में स्थित दो संयंत्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सबी कदम उठाए गए हैं.

पिछले वर्ष जापान में सूनामी और भूकंप से फुकुशिमा परमाणु संयंत्र में हुई दुर्घटना के बाद जापान के सभी 50 संयंत्र रखरखाव के काम के लिए बंद कर दिए गए थे.

दुर्घटना के बाद जापान की जनता ने परमाणु ऊर्जा के खिलाफ आवाज बुलंद की, लेकिन इस गर्मी देश में ऊर्जा का काफी संकट भी रहा है.

सस्ती बिजली

जापान का आखिरी परमाणु संयंत्र मई महीने में रखरखाव के लिए बंद कर दिया गया था.

तोमारी प्लांट के बंद किए जाने के साथ-साथ करीब 40 वर्षों में पहली बार, जापान में परमाणु ऊर्जा से बिजली बननी बंद हो गई.

लेकिन अब प्रधानमंत्री नोडा ने कहा है कि, “सस्ती बिजली लगातार मिलते रहना बहुत जरूरी है, जापान की 30 प्रतिशत बिजली का स्रोत रहे संयंत्रों को अगर बंद रखा जाएगा तो जापान का समाज बचेगा ही नहीं.”

उन्होंने कहा कि कुछ कंपनियां अपना काम जापान से बाहर ले जाएंगे जिससे रोजगार भी कम होगा.

नोडा ने कहा, “ये मेरा फैसला है कि ओही के रिऐक्टर नंबर तीन और चार को दोबारा शुरू किया जाए ताकि लोगों का रोजगार बचाया जा सके.”

पिछले महीने सरकार ने देश के नागरिकों से अपील की ती कि वे अपनी बिजली की खपत को 15 प्रतिशत घटा दें.

संबंधित समाचार