डेटिंग ऐप का नाम बलात्कार से जुड़ा

 गुरुवार, 14 जून, 2012 को 15:14 IST तक के समाचार
बलात्कार

स्काउट ने कहा है कि वो सुरक्षा को मजबूत करने के लिए परामर्श ले रहा है

डेटिंग और मुलाकात के लिए इस्तेमाल होनेवाले एक मोबाइल ऐप ने तीन सेक्स हमलों से इसका संबंध होने के बाद कम उम्र के लोगों के लिए सेवा बंद कर दी है.

स्काउट नामक ये ऐप फोन के जीपीएस तकनीक की मदद से लोगों को यह जानने में मदद करती है कि डेटिंग के लिए उनके आसपास कौन से लोगो मौजूद हैं.

स्काउट पर दो तरह के लोगों के लिए सेवाएँ देने के लिए बनाया गया था. एक सेवा 13 से 17 साल के युवाओं के लिए है और दूसरी उम्रदराज उपभोक्ताओं के लिए.

अमरीका के सैन फ्रांसिस्को शहर में इस ऐप को बनानेवाली कंपनी का कहना है कि 100 से भी ज़्यादा देशों के लोग इसके सदस्य हैं.

मगर अब कंपनी ने मान लिया है कि उसके सुरक्षा इंतज़ाम पुख्ता नहीं हैं. इसलिए वो फिलहाल अपना अंडर-18 नेटवर्क बंद कर रही है.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी क्रिश्चियन विकलंड ने कहा, "स्काउट दूसरे लोकेशन एप्लिकेशंस की तरह किसी के कहीं मौजूद होने की पक्की जानकारी नहीं देती. यह सिर्फ सामान्य जानकारी ही मुहैया करती है. किस से कब, कहां मिलना है, इसका फैसला सिर्फ सदस्यों को ही करना होता है.

"लेकिन यह साफ हो गया है कि सुरक्षा के उपाय काफी नहीं हैं. ऐसे में हम बेहतर सुरक्षा सुनिश्चित करने तक सिर्फ एक ही काम कर सकते हैं. इसलिए अंडर-18 कम्युनिटी सेवा अस्थायी तौर पर बंद कर रहे हैं.”

कारण

"यह साफ हो गया है कि सुरक्षा के उपाय काफी नहीं हैं. ऐसे में हम बेहतर सुरक्षा सुनिश्चित करने तक सिर्फ एक ही काम कर सकते हैं. इसलिए अंडर-18 कम्युनिटी सेवा अस्थाई तौर पर बंद कर रहे हैं"

क्रिश्चियन विकलंड, मुख्य कार्यकारी, स्काउट

स्काउट ने ये कदम न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के बाद उठाया है जिसमें कहा गया था कि बलात्कार की तीन कथित घटनाओं में लिप्त लोगों ने स्काउट पर खुद को कम उम्र का बताकर ये अपराध किया.

ओहायो प्रदेश की 13 साल की एक लड़की ने आरोप लगाया है कि 37 साल के एक व्यक्ति ने उसके साथ बलात्कार की कोशिश की.

वहीं कैलिफोर्निया में 12 साल की एक लड़की ने कहा कि 24 साल के आदमी ने उसके साथ बलात्कार किया है.

विस्कोन्सिन में 12 साल के एक लड़के ने आरोप लगाया कि 21 साल के व्यक्ति ने उसके साथ गलत काम करने की कोशिश की. इसके अलावा और भी कुछ हमलों की खबर है.

नेटवर्क के एक सदस्य ने लिखा है,“ पिछले कुछ दिनों से कई लोग मुझे अपने नग्न चित्र भेज रहे हैं.इसके अलावा एक ने तो मुझ पर रंगभेदी टिप्पणी की. यह सब काफी डराने वाला है.”

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.