कंडोम को बढ़ावा देने के लिए 'सेक्स आवर'

 गुरुवार, 21 जून, 2012 को 23:00 IST तक के समाचार
सुरक्षित सेक्स

इस मुहिम का मकसद सुरक्षित यौन संबंधों को बढ़ावा देना है

नॉर्वे में कंडोम के साथ सुरक्षित यौन संबंधों को बढ़ावा देने के लिए एक संगठन ने एक खास मुहिम और एक खास समय को चुना है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक आरएफएसयू नाम के संगठन ने गुरुवार को ‘सेक्स आवर’ यानी सेक्स को समर्पित घंटा नाम से मुहिम की घोषणा की है, जिसमें देश के सभी पुरूषों से इस घंटे में कंडोम के साथ अपनी साथी की मर्जी से सुरक्षित यौन संबंध बनाने को कहा गया है.

दिलचस्प बात ये है कि सेक्स आवर का समय तब रखा गया है जब टीवी पर चेक गणराज्य और पुर्तगाल के बीच यूरो कप फुटबॉल का क्वॉर्टरफाइनल मुकाबला चल रहा होगा.

आरएफएसयू की अपील है कि लोग फुटबॉल मैच को छोड़ कर सेक्स आवर मुहिम को सफल बनाएं.

दरअसल इस मुहिम का विचार एक अध्ययन के बाद आया है जिसके अनुसार स्कैंडेनेवियन क्षेत्र में नॉर्वे के लोग यौन रूप से सबसे ज्यादा सक्रिय पाए गए हैं लेकिन असुरक्षित सेक्स के मामले में भी वे अव्वल हैं.

ऐसे में असुरक्षित सेक्स की वजह से उनमें कई बीमारियां फैलने का डर रहता है जिनमें खास तौर से क्लामीडिया का नाम लिया जा सकता है.

ये एक तरह का संक्रमण है जो यौन क्रिया के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे में पहुंच सकता है.

अध्ययन के मुताबिक 20 से 35 वर्ष की उम्र के 62 फीसदी नॉर्वे के पुरूषों ने पिछली बार जब अचानक सेक्स किया तो उन्होंने कंडोम का इस्तेमाल नहीं किया. नॉर्वे में हर साल क्लामीडिया के 20 हजार मामले सामने आते हैं.

आरएफएसयू की सेक्सोलोजिस्ट सिदसेल क्लोईव कहती हैं, "हमारा नारा है कि सेक्स अच्छा है, इससे आपकी सेहत सुधरती है."

उनका कहना है कि सेक्स आवर नॉर्वे में इस साल का सबसे आनंददायक घंटा होगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.