अफगानिस्तान: तालिबान के हमले में 13 की मौत

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption तालिबान ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के बाहर स्थित एक होटल पर हमला किया है.

तालिबान चरमपंथियों ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के बाहर स्थित एक होटल पर हमला किया है.

अधिकारियों के मुताबिक सुरक्षा बलों ने होटल में मौजूद इन चरमपंथियों के साथ 12 घंटे तक संघर्ष किया, इस खूनी संघर्ष में हमले में कम से कम 13 लोग मारे गए हैं.

सरकारी अधिकारियों का कहना है कि बृहस्पतिवार की रात भारी हथियार, राकेट से लैस चरमपंथियों ने करगा झील पर स्थित 'स्पोज़मई होटल' पर हमला बोला और इस पर कब्ज़ा कर लिया.

मृतकों में चार होटल के गार्ड और चार आम नागरिक शामिल हैं. संघर्ष में सुरक्षा बलों ने सभी पाँचों हमलावरों को मार दिया है.

हमला उस वक्त हुआ जब अफगानिस्तान के रईस परिवार इस होटल में एक पार्टी मना रहे थे.

तालिबान ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है. तालिबान का कहना है कि अमीर अफगानी और विदेशी इस होटल में शानदार पार्टियां करते हैं.

महिला और बच्चे बंधक

हमले के दौरान चरमपंथियों ने महिलाओं समेत बच्चों को भी बंधक बना लिया, लेकिन बाद में 18 लोगों को मुक्त कर दिया गया.

करगा झील, काबुल के रहने वालों और पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है. काबुल में बीबीसी संवाददाता का कहना है कि ये होटल जिस जगह पर है वहाँ आम तौर पर कम ही सुरक्षा व्यवस्था रहती है.

पुलिस ने बताया कि ये संघर्ष कल देर शाम शुरू हुआ. चरमपंथियों ने होटल पर रॉकेट चालित ग्रेनेड दागे और भारी गोलाबारी की.

काबुल के उप मुख्य पुलिस अधिकारी दाउद अमीन ने एएफपी समाचार ऐजेंसी को बताया कि उनकी कोशिश थी कि इस संघर्ष में आम लोगों को किसी तरह का नुकसान न पहुंचे.

अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने इन हथियारबंद चरमपंथियों से संघर्ष किया. लेकिन एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि अंतरराष्ट्रीय सेनाएं इस काम मे अफगानी सुरक्षा बलों की मदद की.

संबंधित समाचार