सीरिया ने तुर्की का विमान मार गिराया

समंदर में विमान गिरा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ये अभी साफ नहीं है कि विमान सीरिया की जलसीमा में था या नहीं.

सीरिया की सेना ने कहा है कि उसने तुर्की के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया है, जो उसके 'वायुक्षेत्र में उड़ रहा था'.

सीरिया की सरकारी समाचार एजेंसी सना के मुताबिक ये विमान सीरियाई जलक्षेत्र के ऊपर उड़ान भर रहा था.

इससे पहले तुर्की का एफ-4 फैंटम विमान भूमध्यीय सागर के ऊपर उड़ान भरते हुए गायब हो गया.

तुर्की के हतय प्रांत में जिस जगह से विमान गायब हुआ वो सीरिया के तट से ज्यादा दूर नहीं है.

सीरियाई सेना के प्रवक्ता ने सना को बताया कि 'एक अज्ञात लक्ष्य' ने पश्चिमी दिशा की तरफ से सीरिया वायुक्षेत्र का उल्लंघन किया है.

प्रवक्ता के मुताबिक विमान तेज रफ्तार से साथ काफी नीचे उड़ रहा था.

उन्होंने बताया कि लाताकिया प्रांत में तट के नजदीक विमान-रोधी रक्षा तंत्र ने विमान को मार गिराया.

प्रवक्ता के मुताबिक, “बाद में पता चला कि ये तुर्की का सैन्य विमान है जो हमारे वायुक्षेत्र में घुस आया था.”

प्रवक्ता ने कहा कि इस तरह की स्थिति के जो नियम तय किए हैं, उन्हीं के मुताबिक (इस विमान से) निपटा गया है.

'तुर्की उठाएगा जवाबी कदम'

तुर्की के प्रधानमंत्री रचेप तैयप एर्दोआन ने इस मुद्दे पर शुक्रवार को सुरक्षा आपात बैठक बुलाई.

बैठक के बाद जारी बयान में कहा गया है कि एक बार ये साफ हो जाए कि किन परिस्थितियों में ये विमान मार गिराया गया है तो फिर तुर्की इस बारे में जबावी कदम उठाएगा.

बयान के मुताबिक राहत और बचाव में सीरिया के तटरक्षक पोत तुर्की की मदद कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री एर्दोआन ने कहा है कि उन्हें इस बारे में सीरिया की तरफ से कोई माफी प्राप्त नहीं हुई है.

सेना प्रमुखों के साथ बैठक से पहले तुर्की प्रधानमंत्री ने कहा, “हमें सीरिया की तरफ से किसी तरह की माफी के बारे में कोई जानकारी नहीं है. बैठक के बाद ये साफ होगा कि क्या उन्होंने माफी मांगी या फिर इसके लिए वो माफी क्यों मांगेंगे.”

एर्दोआन ने आगे कहा, “हमारे पायलटों के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है, लेकिन इस वक्त कुछ सीरियाई नौकाएं भी साझा खोजी अभियान में मदद कर रही हैं.”

तुर्की और सीरिया का तनाव

तुर्की की सेना का कहना है कि शुक्रवार को हतय प्रांत के इरहाच हवाई ठिकाने से उड़ान भरने के बाद एफ-4 फैंटम विमान से उसका संपर्क टूट गया. उस समय विमान भूमध्यीय सागर के ऊपर उड़ान भर रहा था.

सीरिया और तुर्की कभी एक दूसरे के नजदीकी सहयोगी रहे हैं, लेकिन मार्च 2011 में सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद के खिलाफ विद्रोह शुरू होने के बाद से दोनों देशों के रिश्ते तेजी से बिगड़े हैं.

विद्रोह शुरू होने के बाद से दसियों हजार लोगों ने तुर्की में शरण ले रखी है.

इस बीच सीरिया में हिंसा का दौर जारी है. सरकारी मीडिया के मुताबिक 'हथियारबंद आतंकवादी गुटों' ने अलेप्पो प्रांत में 25 ग्रामीणों का अपहरण करके उनकी हत्या कर दी है.

कार्यकर्ताओं का कहना है कि विद्रोहियों ने 26 सरकार समर्थकों की हत्या कर दी है. इंटरनेट पर जारी एक वीडियो में दरात इज्जा गांव में कुछ शवों को दिखाया गया है.

संबंधित समाचार