सीरिया से तनातनी, तुर्की ने नेटो की बैठक बुलाई

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption तुर्की के राष्ट्रपति गुल ने कहा कि मामले की पूरी तरह जांच की जाएगी

तुर्की ने सीरिया पर आरोप लगाया है कि उसने उसके एक लड़ाकू जेट विमान को शुक्रवार को बिना चेतावनी दिए गिरा दिया. तुर्की ने सीरिया से औपचारिक आपत्ति दर्ज कराई है.

तुर्की के विदेश मंत्री अहमद दावुतोग्लू ने दावा किया है कि जब जेट पर हमला किया गया तब वह अंतरराष्ट्रीय सीमा में था लेकिन उन्होंने माना कि कुछ देर के लिए जेट सीरियाई हवाई सीमा में दाखिल जरूर हुआ था.

तुर्की के अनुरोध पर मंगलवार को नेटो की एक बैठक बुलाई गई है. तुर्की ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पाँच स्थायी सदस्यों से भी संपर्क किया है.

इसके बाद अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करनी शुरु कर दी है. ब्रितानी विदेश मंत्री विलियम हेग ने कहा है कि वे सीरियाई कार्रवाई से खासे चिंतित हैं.

'ब्रिटेन ठोक कार्रवाई के लिए तैयार'

सीरिया ने इससे पहले कहा था कि जेट विमान उसकी वायुसीमा में था जब उस पर फायरिंग कि गई.

इस्तांबुल में मौजूद बीबीसी संवाददाता जोनाथन हेड के अनुसार, "पहली बार अब तुर्की सीरियाई बयान को चुनौती दे रहा है. सीरियाई विदेश मंत्री दावुतोग्लू के अनुसार विमान अंतरराष्ट्रीय सीमा में था जब उस पर मिसाइल हमला किया गया."

जोनाथन हेड कहते हैं, "तुर्की के विदेश मंत्री के अनुसार जेट विमान में कोई हथियार नहीं थे और वह सामान्य ट्रेनिंग फ्लाइट पर था. दावुतोग्लू ने पहले ही संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून और सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्यों से इस बारे में चर्चा कर ली है."

तुर्की में मीडिया का कहना है कि भूमध्यसागर की सतह के लगभघ 1000 मीटर नीचे विमान का मलबा मिला है.

ब्रिटेन ने कहा है कि सीरिया कि असद सरकार को ये मानने की गलती नहीं करनी चाहिए कि वह बिना किसी रोकटोक कुछ भी कर सकती है, क्योंकि उसे अपनी कार्रवाई के लिए जवाब देना होगा.

ब्रितानी विदेश मंत्री विलियम हेग ने कहा कि ब्रिटेन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस घटना के संबंध में ठोस कार्रवाई करने के लिए तैयार है.

संबंधित समाचार