सीरिया में युद्ध की स्थिति: राष्ट्रपति असद

दमिश्क इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के प्रमुख हर्व लेडसॉस ने कहा है कि बढ़ती हिंसा की वजह से सीरिया में मिशन का निगरानी कार्य स्थगित रहेगा

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद ने कहा है कि उनका देश युद्ध की स्थिति में है.

सना समाचार एजेंसी के मुताबिक, राष्ट्रपति असद ने अपनी कैबिनेट से कहा है कि युद्ध जीतने के लिए हर कोशिश की जानी चाहिए.

खबरें हैं कि राजधानी दमिश्क में सेना और विद्रोहियों के बीच भीषण लड़ाई हुई है.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि राष्ट्रपति बशर अल असद के खिलाफ एक वर्ष पहले शुरु विद्रोह बाद ये हिंसा की सबसे बड़ी घटनाओं में से एक है.

अपुष्ट खबरों में कहा गया है कि सीरिया के रिपब्लिकन गार्ड्स के साथ विद्रोहियों की झड़पें हुई हैं.

ब्रिटेन स्थित सीरियन ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स का कहना है कि ये झड़पें मंगलवार को रातभर हुईं.

विद्रोहियों के हौसले बुलंद

संवाददाताओं का कहना है कि रिपब्लिकन गार्ड्स के ठिकानों के नजदीक लड़ाई होना कोई मामूली बात नहीं है और इससे संकेत मिलता है कि विद्रोहियों का हौसला बढ़ता जा रहा है.

रिपब्लिकन गार्ड्स की कमान राष्ट्रपति असद के छोटे बेटे माहिर के हाथ में है. राजधानी की सुरक्षा रिपब्लिकन गार्ड्स के ही जिम्मे है.

सरकारी टेलिविजन ने लड़ाई होने की पुष्टि की है लेकिन कहा है कि दर्जनों 'चरमपंथी' मारे गए हैं और कई अन्य को जेल में डाला गया है जिनमें विदेशी लड़ाके भी शामिल हैं.

इसमें कहा गया है कि बड़ी संख्या में हथियारबंद विद्रोही अल-हमा की ओर गए जहां उन्होंने मुख्य सड़क पर कब्जा करने की कोशिश की ताकि वे और ज्यादा लड़ाकों को यहां ला सकें.

सीरियन ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स का कहना है कि कादसया में बमबारी में दस लोग मारे गए हैं.

तुर्की की चेतावनी

समूह का कहना है कि मंगलवार को हुई हिंसा में पूरे सीरिया में 58 लोग मारे गए हैं जिनमें 24 सैनिक, 30 नागरिक और चार विद्रोही शामिल हैं.

राजधानी दमिश्म में ये हिंसा ऐसे वक्त हो रही है जब पड़ोसी तुर्की ने अपना जेट विमान बीते हफ्ते मार गिराने के बाद सीरिया के खिलाफ कड़ी चेतावनी जारी की है.

तुर्की के प्रधानमंत्री रिसेप तैयप अर्दोगान ने संसद में कहा है कि सीरिया के सैनिक यदि तुर्की की सीमा पर आए तो उन्हें सैन्य खतरे के रूप में देखा जाएगा.

इसबीच संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के प्रमुख हर्व लेडसॉस ने कहा है कि सीरिया में मिशन का निगरानी कार्य स्थगित रहेगा क्योंकि हिंसा बढ़ रही है.

वहीं रूस का कहना है कि उसके विदेशमंत्री सर्गेई लावरोव सीरिया के मुद्दे पर जेनेवा में 30 जून को होने वाले संभावित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में हिस्सा लेंगे.

संबंधित समाचार