ब्रितानी नागरिकता की परीक्षा में बदलाव?

ब्रिटिश नागरिकता
Image caption ब्रिटेन में 90 केंद्रों पर नागरिकता पाने का ये टेस्ट दिया जा सकता है.

ब्रितानी नागरिकता पाने के लिए होने वाली परीक्षा में बदलाव की तैयारी हो रही है.

खबरें हैं कि ब्रितानी गृह मंत्री टेरेसा मे इस परीक्षा में बदलाव करने के बारे में सोच रही हैं.

'ब्रिटेन में जीवन' नाम की परीक्षा लेबर पार्टी की पिछली सरकार ने 2005 में शुरू की थी.

ब्रितानी अखबार 'संडे टाइम्स' का कहना है कि प्रवासी लोगों को बताया जाएगा कि “ब्रिटेन ऐतिहासिक रूप से एक ईसाई देश है.”

परीक्षा के बदले पैटर्न में ब्रिटेन में रोजमर्रा की व्यावहारिक बातों पर कम ध्यान दिया जाएगा. इसके स्थान पर ब्रितानी इतिहास और उपलब्धियों को तवज्जो दी जाएगी.

आविष्कार और खोज

अखबार का कहना है कि प्रवासी लोगों को ब्रितानी नागरिक बनने से पहले राष्ट्रगान का पहला हिस्सा सीखना होगा.

समझा जाता है कि टेरेसा मे परीक्षा के उस हिस्से को हटाना चाहती हैं, जिसमें सरकार से मिलने वाले लाभ और मानवाधिकार अधिनियम के बारे में पूछा जाता है.

इसके अलावा ब्रितानी नागरिकता पाने के इच्छुक लोगों से बायरॉन, ड्यूक ऑफ वेलिंगटन, शेक्सपियर और दूसरी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक हस्तियों के बारे में पूछा जाएगा.

नई हैंडबुक जल्द ही जारी कर दी जाएगी जिसमें ट्रैफेल्गर जैसी अहम लड़ाइयों के अलावा ब्रितानी आविष्कार और खोजों के बारे में जानकारी होगी.

गृह कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया, “ये कदम पुराने संस्करण की जगह नया संस्करण लाने के लिए उठाया जा रहा है. पुराने पैटर्न में अधिकार और व्यावहारिक जानकारियों के बारे में ज्यादा पूछा जाता था, जिसका ब्रितानी संस्कृति से बहुत कम संबंध है. नए पैटर्न में जिम्मेदारियों को लेकर जागरुकता के साथ साथ प्रवासियों से ये भी पूछा जाएगा कि उन्हें हमारे देश के बारे में कितनी बुनियादी जानकारी है.”

इसी हैंडबुक के आधार पर नागरिकता पाने के इच्छुक लोगों का 45 मिनट की परीक्षा होती है जो ब्रिटेन में 90 केंद्रों पर दिया जा सकता है.

संबंधित समाचार