पर्यटन को कार्टून का सहारा

डिज़्नी इमेज कॉपीरइट AP PhotoDisneyPixar

एक तरफ जहाँ यूरोप में एक के बाद एक देश यूरोज़ोन संकट का सामना करने के लिए हाथ पावं मारे रहे हैं और अपने खर्च कम करने की कोशिश कर रहे हैं स्कॉटलैंड ने एक अनोखी राह चुनी है.

स्कॉटलैंड की सरकार ने लाखों डॉलर खर्च कर के प्रख्यात अमरीकी फ़िल्म निर्माता कंपनी डिज़्नी के साथ एक फिल्म बनाई है ' ब्रेव'.

स्कॉटलैंड के पर्यटन को चलाने वालों का मानना है कि यह फ़िल्म हिट होगी और इसमें स्कॉटलैंड को देख कर लोग खिंचे चले आयेगें.

क्या है ब्रेव ?

इस फ़िल्म में स्कॉटलैंड को ब्रेव यानी साहसी का घर बताया है. स्कॉटलैंड हर साल क़रीब एक करोड़ साठ लाख पर्यटक आते हैं.

आम तौर पर पर्यटक स्कॉटलैंड में एक धारणा ले कर आते हैं कि लोग उन्हें यहाँ स्कर्ट नुमा किल्ट पहने और बैग पाइप बजाते मिल जायेगें.

डिज्नी ने अपनी इस नई फ़िल्म में इन तत्वों को भी सहजने की कोशिश की है.

इस फ़िल्म की नायिका है मेरिडा, एक लाल बालों वाली राजकुमारी जो अपने राज्य को बचने के लिए निकली है.

स्कॉटलैंड की सरकार का मानना है कि यह फ़िल्म दुनिया भर से पर्यटकों को स्कॉटलैंड की तरफ खींचेगी. इस उम्मीद के साथ सरकार ने इन फ़िल्म में एक करोड़ डॉलर का निवेश किया है.

स्कॉटलैंड की सरकार में मंत्री एलेक्स सालमोंड इस फ़िल्म को सही बताते हैं और कहते हैं कि यह एक अद्भुत फ़िल्म है.

स्कॉटलैंड का पर्यटन उद्योग हर साल अपने देश के लिए 20 अरब डॉलर का राजस्व पैदा करता है. यह देश की आय सबसे बड़ा एकल स्रोत है.

और उद्योग धंधों की तरह ही देश का पर्यटन उद्योग भी यूरोज़ोन के संकट से प्रभावित है लेकिन देश की सरकार को उम्मीद है कि वो इस फ़िल्म के सहारे अगले दशक में देश में पर्यटन को दोगुना कर देंगे.

नया नज़रीया देगी

एडिनबर्ग फ़िल्म फेस्टिवल के निदेशक क्रिस फ़ूजिवारा कहते हैं "यह एक बेहद खूबसूरत फ़िल्म है जो कि स्कॉटलैंड को पूरी दुनिया के दर्शकों के सामने के नए और प्रभावशाली रूप में पेश करेगी."

डिज़्नी पूरी दुनिया में इस फ़िल्म को दर्शकों के सामने पेश कर रहा है. स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग विश्वविद्यालय में सांस्कृतिक इतिहासकार गिरी वेस्ट भी इस फ़िल्म से ख़ुश हैं.

वेस्ट कहते हैं" एक फ़िल्म जिसमें सच्चे दृश्यों को काल्पनिक दृश्यों से मिला कर दर्शकों के सामने ताकतवर के संगीत और कथानक के साथ रखा गया हो वो दर्शकों से सीधा संबंध स्थापित करती हैं. "

ऐसा पहली बार हुआ है कि डिज़्नी ने किसी देश के पर्यटन महकमे के साथ मिल कर इस तरह की परियोजना को हाथ में लिया हो.

स्कॉटलैंड के पर्यटन विभाग के अधिकारी माइक कैंटले कहते हैं "लोग स्कॉटलैंड की परंपरागत धारणा से परेशान हो चुके थे. इस फ़िल्म में स्कॉटलैंड की परंपराओं को, मिथकों को बहुत ही ताकतवर ढंग से पिरोया है."

और स्कॉटलैंड को लाभ महज़ पर्यटकों भर से नहीं है. इस फ़िल्म के ज़रिये स्कॉटलैंड के अधिकारी उम्मीद कर रहे हैं कि 20 करोड़ डॉलर तो मिल ही जायेगें. यानी लागत से कई गुना ज़्यादा.

यह फ़िल्म अपने एक उद्दयेश में तो सफल हो ही गई है.

संबंधित समाचार