प्रचंड के पुत्र पार्टी से निलंबित

 मंगलवार, 10 जुलाई, 2012 को 18:13 IST तक के समाचार
प्रचंड

अपने बेटे के इस मामले की वजह से प्रचंड की राजनीति पर बुरा असर पड़ सकता है

नेपाल की सत्ताधारी यूसीपीएन-माओवादी ने पार्टी प्रमुख प्रचंड के पुत्र प्रकाश दहल को पार्टी से निलंबित कर दिया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, एक छात्र नेता से कथित विवाहेत्तर संबंधों की वजह से प्रकाश के खिलाफ ये कदम उठाया गया है.

बीबीसी संवाददाता संजय ढकाल का कहना है कि नेपाल में सोशल मीडिया में ये मुद्दा व्यंग्य की शक्ल में खूब उछल रहा है.

माओवादी प्रवक्ता दीनानाथ शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि प्रकाश को पार्टी की साधारण सदस्यता के साथ ही राज्य समिति से भी निलंबित कर दिया गया है.

सूत्रों का कहना है कि यूसीपीएन-माओवादी की पोलित ब्यूरो की बैठक में ये फैसला किया गया है.

स्थानीय मीडिया में छाया 'अफेयर'

स्थानीय मीडिया का कहना है कि प्रचंड के 29 वर्षीय पुत्र प्रकाश की दो वर्ष पहले ही दूसरी बार शादी हुई थी. उनका एक वर्षीय बेटा भी है.

स्थानीय मीडिया का ये भी कहना है कि प्रकाश का बीना नामक एक छात्र नेता से अफेयर चल रहा है, बीना भी विवाहित हैं.

खबरों में ये भी कहा गया है कि ये दोनों ही बीते पांच दिन से अपने परिवार के सम्पर्क में नहीं हैं.

दोनों ही हाल के दिनों में एवरेस्ट पर्वतारोहण अभियान से लौटे थे और इसके बाद से ही उनके संबंधों के बारे में अफवाहें उड़ रही थीं.

बीबीसी नेपाली सेवा के संजय ढकाल के मुताबिक, पोलित ब्यूरो के सदस्य और प्रचंड के करीबी हरिबोल गजरैल का कहना है कि प्रकाश के बारे में इन खबरों की पुष्टि नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि पुष्टि होने पर प्रकाश के खिलाफ और भी कार्रवाई की जाएगी.

बीबीसी संवाददाता के मुताबिक, प्रकाश के इस मामले से पिता प्रचंड की राजनीति पर बुरा असर पड़ेगा जिनकी पार्टी में हाल कि दिनों में काफी उथल-पुथल रही है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.