सौ साल से जल रहा है एक बल्ब

सबसे पुराना बल्ब इमेज कॉपीरइट SPL
Image caption आम तौर पर बिजली के बल्ब एक हजार घंटे तक चलते हैं.

आम तौर पर बिजली के बल्ब की उम्र एक हजार घंटे मानी जाती है लेकिन ब्रिटेन में एक बल्ब पिछले 100 साल से जगमगा रहा है.

ब्रितानी अखबार 'सन' में छपी एक खबर के मुताबिक 230 वोल्ट, 55 वॉट का ये डीसी ओसराम बल्ब जुलाई 1912 में बना था यानी टाइटैनिक डूबने के बाद चंद महीनों बाद.

इस बल्ब के मालिक 74 वर्षीय रॉजर डायबॉल का कहना है, “इस तरह तो ये बल्ब हमेशा जलता रहेगा.” डायबॉल पूर्वी इंग्लैंड के सुफोल्क इलाके में रहते हैं.

उनका कहना है कि 45 साल पहले जब वो अपनी पत्नी पैट्रिका के साथ अपने मौजूदा घर में रहने आए थे तो ये बल्ब पहले से ही वहां लगा था और आज तक उनके आंगन को रोशन कर रहा है.

डायबॉल के अनुसार, “जब हम 1967 में इस घर में आए तो ये बल्ब इसी तरह हमें लगा हुआ मिला और तब से फ्यूज नहीं हुआ है.”

इससे भी पुराना बल्ब

वेम्बली, लंदन में निर्मित इस बल्ब को लेकर डायबॉल के मन में इतना कौतूहल था कि उन्होंने इसे बनाने वाली कंपनी को पत्र लिखा जिसमें उन्होंने बल्ब का सीरियल नंबर और बाकी ब्यौरा भेजा.

ओसराम ने इस ब्यौरे को अपने रिकॉर्ड में तलाशा और और डायबॉल को एक प्रमाणपत्र भी जारी किया.

कपनी ने 30 जनवरी 1968 को दिए जवाब में बताया कि ये बल्ब जुलाई 1912 में बना गया था.

वैसे ब्रिटेन का सबसे पुराना बल्ब 2008 में मारगेट, केंट में पाया गया था. विशेषज्ञों का अनुमान है कि वो बल्ब 1895 का बना हुआ है, यानी अमरीकी वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडीसन के बिजली के बल्ब का आविष्कार किए जाने के बाद 15 वर्ष बाद.

संबंधित समाचार