स्वास्तिक को लेकर मैडोना पर मुक़दमा

मरीन ली पेन (फाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मरीन ली पेन राष्ट्रपति चुनाव के पहले चरण में दौड़ से बाहर हो गई थीं.

फ़्रांस की दक्षिण-पंथी पार्टी नेश्नल फ़्रंट ने जानी मानी पॉप गायिक मैडोना के पेरिस कन्सर्ट के दौरान एक तस्वीर में नेश्नल फ़्रंट की नेता मरीन ली पेन को स्वास्तिक चिन्ह के साथ दिखाए जाने के विरोध में मैडोना के ख़िलाफ़ मुक़दमा करने का फ़ैसला किया है.

स्वातिक का चिन्ह जर्मनी के तानाशाह हिटलर प्रयोग में लाया करते थे.

नेश्नल फ़्रंट के उपाध्यक्ष फलोरियन फिलिपोट ने कहा कि उनकी पार्टी इस तरह की घृणित तुलना कभी स्वीकार नहीं करेगी.

मैडोना ने शनिवार को पेरिस में हुए एक कन्सर्ट के दौरान एक गाना गाया था जिसके बोल थे 'नोबडी नोज़ मी'. उस गाने के दौरान दिखाई गई वीडियो में एक तस्वीर थी जिसमें मरीन ली पेन को स्वास्तिक चिन्ह के साथ दिखाया गया था.

उसके बाद एक और तस्वीर दिखाई गई थी जो जर्मनी के हिटलर से काफ़ी मिलती-जुलती थी.

फिलिपोट ने कहा कि इसी सप्ताह में मैडोना के ख़िलाफ़ मुक़दमा दायर किया जाएगा.

मैडोना का वह वीडियो पहले भी दुनिया भर के तीस देशों में हुए उनके कन्सर्ट के दौरान दिखाया जा चुका है.

उस समय भी मरीन ली पेन ने चेतावनी दी थी कि वो मैडोना के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई कर सकती हैं.

फ़िलिपोट ने कहा कि मैडोना के विश्व भ्रमण के दौरान ये एक उकसाने वाली कार्रवाई है ताकि लोग उनके बारे में बातें करते रहें.

फ़िलिपोट का कहना था, ''मरीन ली पेन ना सिर्फ़ अपने बल्कि अपने समर्थकों और नेश्नल फ़्रंट के लाख़ों वोटरों के सम्मान की रक्षा करेंगीं.''

इसी साल फ़्रांस में हुए राष्ट्रपति चुनाव के पहले चरण में मरीन ली पेन को 18 फीसदी वोट मिले थे.

ली पेन ने अतिवादी तत्वों और यहूदी विरोधियों को पार्टी से बाहर करने की भी पूरी कोशिश की है.

लेकिन उनकी तमाम कोशिशों के बावजूद पिछले महीने हुए 577 सदस्यों वाली नेश्नल एसेंबली के चुनाव में उनकी पार्टी केवल दो सीट ही जीत सकी.

मैडोना फ़्रांस के शहर नाइस में 21 अगस्त को एक बार फिर कन्सर्ट करने वाली हैं.

संबंधित समाचार