मुबारक को वापस जेल भेजने का आदेश

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मुबारक को उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई थी

मिस्र के अधिकारियों ने ये कहते हुए पूर्व राष्ट्रपति होस्नी मुबारक को फिर जेल भेजने का आदेश दिया है कि उनकी सेहत अब बेहतर हो गई है.

84 वर्षीय मुबारक को पिछले हफ़्ते उनका स्वास्थ्य बिगड़ने की रिपोर्टें आने के बाद जेल से अस्पताल ले जाया गया था.

उस समय ऐसा बताया जा रहा था कि उन्हें कई बार पक्षाघात हुआ है और वे जीवन बचानेवाली मशीनों के सहारे रखे गए हैं.

ये भी रिपोर्टें आईं कि वे क्लीनिकली मृत हैं, मगर इन्हें बाद में ग़लत बताया गया.

मुबारक को इस साल जून में प्रदर्शनकारियों की हत्याओं में उनकी भूमिका के लिए दोषी ठहराए जाने के बाद उम्रक़ैद की सज़ा दी गई थी.

आदेश

सरकारी अभियोजक अब्दुल महमूद के कार्यालय ने बताया है कि मुबारक को उनके स्वास्थ्य में सुधार के बाद मादी सैन्य अस्पताल से निकालकर तोरा जेल के अस्पताल भेजे जाने का आदेश जारी किया गया है.

अभी ये पता नहीं है कि मुबारक को कब जेल ले जाया जाएगा.

हालाँकि बीबीसी के काहिरा संवाददाता जोन लेन का कहना है कि मुबारक के स्वास्थ्य के बारे में किसी भी ख़बर को बहुत ही अधिक संदेह की नज़र से देखा जाएगा.

संवाददाता के अनुसार इससे पहले भी हमेशा उनके स्वास्थ्य को लेकर जताई जानेवाली चिंता के पीछे ये संदेह जताया जाता रहा है कि शायद इनका मकसद उन्हें जेल से अस्पताल ले जाना या फिर उन्हें क्षमादान दिलवाना है.

संबंधित समाचार